रविवार, 13 अप्रैल 2014

लोकसभा चुनाव 2014 : भाग-6 : मुलायम सिंह यादव---नहीं बन पाएँगे प्रधानमंत्री

जय श्री राम …………| आदरणीय मित्रो, प्रस्तुत है इस शृंखला का भाग-6| वैसे तो 21-22-23 दिसंबर, 2012 को जालंधर में ‘अखिल भारतीय सरस्वती ज्योतिष मंच’ की ओर से आयोजित अंतरराष्ट्रीय ज्योतिष सम्मेलन में अपने व्याख्यान में यह कह चुके हैं| आज इसके भाग-6 में समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव का अंकीय विश्लेषण प्रस्तुत है| यह विश्लेषण दैनिक ‘पंजाब केसरी’ की वेबसाइट http://www.punjabkesri.in पर दिनांक 25 फरवरी, 2014 को प्रकाशित हो चुका है|

जन्म-दिनांक:-22-11-1939
मूलांक:-4          भाग्यांक:-1           आयु अंक:-3 (75 वाँ वर्ष)             नामांक:-5             जन्म का चलित अंक:-3 (-)              चलित दशा:-अंक 5 (वर्ष 2013 से वर्ष 2017 तक)


 आज बात करते हैं समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव की| प्रत्यक्ष और परोक्ष में उन्होंने इस बार अपना सारा दमखम लगा रखा है| इस बार वे 'अभी नहीं, तो कभी नहीं' वाली अवस्था में हैं| इनके मूलांक 4 व भाग्यांक 1 में पितृ दोष व ग्रहण योग है| ये योग एक पितृ पुरुष के रूप में मुलायम के विपरीत जाते हैं| इनके लिए यह बात कुछ सांत्वनादायक रह सकती है कि चुनावी वर्षांक 7 इनके मूलांक 4 व भाग्यांक 1 के साथ-साथ इनके आयु अंक 3 (75 वाँ वर्ष) का प्रबल मित्र है| यही अंक 3 इनके जन्म का चलित भी है| यहाँ यह बात फिर इनके विरुद्ध जाती है कि इनका आयु अंक 3 व जन्म का चलित अंक 3 इन्हीं की चलित दशा के अंक 5, इनके ही नामांक 5 व देश की चलित दशा के अंक 6 का प्रबल विरोधी है| अतः स्वयं इनकी व देश की चलित की दशाएँ इनके पक्ष में नहीं ही हैं; अपितु ये तो प्रबल विरोधी हैं| इनका मूलांक 4 देश के आयु अंक 4 के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| यह अंक 4 देश के मूलांक 6 का विरोधी होने के साथ-साथ देश के भाग्यांक 8 का प्रबल विरोधी है| अंक 4 व अंक 8 में विखंडन युति बनती है| यह युति पितृ अवस्था भंग करती है| इस कारण 22 नवम्बर, 2014 तक का समय मुलायम के लिए परीक्षा का है| इनका मूलांक 4 वृहदंक 22 से बनता है| अंक 2 परिवार/पार्टी/साथ/सहयोग/गठबंधन/स्त्री/मनोवांछा व अंक 4 पितृ दोष व वरिष्ठता का है| अंक 22 व इसके मूलांक 4 का त्रिकोण यह बताता है कि मुलायम को अपनी पार्टी और परिवार को एकजुट बनाये रखने और चुनावी लड़ाई के लिए साथ रखने में बहुत कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है| न सिर्फ पार्टी, बल्कि परिवार के भी वरिष्ठ सदस्यों की आपसी टकराहट इसके लिए बड़ी परेशानी साबित हो सकती है| मुलायम सिंह के परिवार के सदस्य इनकी मुश्किलें बढ़ा सकते हैं| इसके साथ ही चुनावों के बाद दूसरे दलों के साथ जाने या उन्हें साथ लेने के मामले में मुलायम को परेशानी पेश आ सकती है| मुलायम के लिए आगामी आयु अंक 6 से आयु अंक 8 की अवधि यानि उम्र के 78 वें से 80 वें वर्ष का समय बहुत भारी सिद्ध होगा| इस अवधि में इनकी पार्टी मृत अथवा मृतप्रायः हो जाएगी| इस अवधि में ये अपनी पार्टी की उत्तर प्रदेश सरकार से हाथ धो बैठेंगे| यही अवधि इनके जीवन पर भी भारी पड़ सकती है यानि इस अवधि में मुलायम सिंह का जीवन पूर्णविराम ले ले तो आश्चर्य नहीं होना चाहिए| इनका नामांक 5 व इनकी चलित दशा का अंक 5 देश के भाग्यांक 8 के साथ विरोधी युति बनाता है| यह युति भ्रम की अवस्था बनाये रखती है, किन्तु भ्रम के समाप्त होने पर बुरी तरह पटखनी देती है| इस प्रकार इन लोकसभा चुनावों में अपनी पार्टी के प्रदर्शन और अपनी अवस्था को लेकर मुलायम बहुत भ्रम में रहेंगे, किन्तु परिणाम आने पर बहुत निराश होना पड़ेगा|                 

            मुलायम का मूलांक 4 चुनावी वर्षांक 7 का प्रबल मित्र है| यह देश की स्वाधीनता के आयु अंक 4 के साथ इसका प्रतिशत बढ़ा देता है| यह मुलायम को कुछ सुकून दे सकती है| अंक 4 पितृ दोष व वरिष्ठता तथा अंक 7 रक्त-सम्बन्ध का प्रतिनिधित्व करता है| अंक 4 के साथ इसकी युति बताती है कि ये अपने परिवार के लोगों के कारण परेशानी में घिरते रहेंगे| अपने परिवार के लोगों के रूठने-मनाने और खींचातानी भरे रुख़ के कारण इनकी मुश्किलें बढ़ने के ही आसरा हैं, कम होने के नहीं| इनका भाग्यांक देश के मूलांक 6 के साथ विरोधी युति बना रहा है| यह नेतृत्व में 'सुख भंग' की युति है| इसका मतलब यह है कि मुलायम को 'नेता होने या नेतृत्व करने का सुख' नहीं मिल पाएगा यानि ये किसी तीसरे/चौथे मोर्चे का नेता बन कर देश का नेतृत्व नहीं कर पाएँगे| इनका यह भाग्यांक 1 देश के भाग्यांक 8 के साथ सीधे-सीधे पितृ द्रोह उत्पन्न करता है| यह युति भी 'नेतृत्व का सुख' नहीं लेने देती है| अतः इस बार मुलायम न तो 'किंग' बनते दिख रहे हैं और न ही 'किंगमेकर'; बल्कि इन्हें तो अपना पिछले लोकसभा चुनाव का प्रदर्शन बरक़रार रखने में भी ज़ोर आ सकता है| कहीं ऐसा न हो जाए कि मुलायम 'आगे का पाने के चक्कर' में पिछला प्रदर्शन भी खो बैठें| 
              अगले भाग में बात करेंगे बहुजन समाज पार्टी की| ............ जय श्री राम|