सोमवार, 14 अप्रैल 2014

लोकसभा चुनाव 2014 : भाग-14---शरद पवार : झटकों भरे रहेंगे ये चुनाव

जय श्री राम ............ आदरणीय मित्रो, अब प्रस्तुत है इस शृंखला का भाग-14| इसमें बात करते हैं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के मुखिया शरद पवार की| यह आलेख जनवरी, 2014 का है|
जन्म-दिनांक:-12-12-1940
मूलांक:-3           भाग्यांक:-2 (20)          आयु अंक:-2 (74 वाँ वर्ष)            नामांक:-7 (वृहदंक 34)          जन्म का चलित अंक:-3 (-)                 चलित दशा:-अंक 4 (वर्ष 2012 से वर्ष 2015)

                   हमने अपनी पिछली बात में जैसा कहा था कि शरद पवार ने महाराष्ट्र का सबसे कम आयु में मुख्यमंत्री बनने का कीर्तिमान बनाया था| इन्होंने सोनिया गांधी के विदेशी मूल को मुद्दा बना कर कांग्रेस तोड़ी और फिर महाराष्ट्र व केंद्र में उसी कांग्रेस के साथ सरकार भी बनायी| इन्हें घटा कर महाराष्ट्र की राजनीति में तो वर्तमान में चर्चा भी नहीं की जा सकती| इनका नामांक 7 चुनावी वर्षांक 7 के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| यहाँ स्त्री अंकों की प्रधानता हो गयी है, जो कि इस पार्टी पर परिवारवाद के हावी होने को बताती है| यह बात इस पार्टी पर सौ फ़ीसदी लागू भी होती है| अब तक का यह  पारिवारिक आधिपत्य अब स्त्री प्रधानता में बदल जाएगा यानि अब इस पार्टी में पवार के परिवार की स्त्री यानि उनकी बेटी सुप्रिया सुले का दबदबा बढ़ेगा| साथ ही स्त्री अंकों की यह प्रधानता यह भी बताती है कि कांग्रेस के साथ गठबंधन इस बार इनके लिए घोर अलाभकारी रहेगा क्योंकि वह पार्टी स्त्री (सोनिया गांधी) प्रमुखता वाली है, जबकि शरद पवार व एन सी पी के स्त्री अंक अभी ख़राब हैं| इनका यह मूलांक 7 जन्म के चलित अंक 3 के साथ प्रबल मित्र युति बनाता है| इस अंक 7 की देश की स्वाधीनता के मूलांक 6 व देश की चलित दशा के अंक 6 के साथ मित्र युति पवार के लिए राहत की बात है| यह अंक 7 देश की स्वाधीनता के भाग्यांक 8 के साथ भी मित्र युति बनाता है| यह युति रक्त-सम्बन्धों में या इनके कारण उठापटक बताती है| इस कारण इन चुनावों में पवार को अपने रक्त-सम्बन्धियों के कारण परेशानी का सामना करना पड़ सकता है| इनका नामांक 7 देश की स्वाधीनता के आयु अंक 4 के साथ प्रबल मित्र युति बनाता है| स्त्री अंक ख़राब होने के कारण यह युति इस पार्टी के विपरीत जाती है| यह युति पार्टी के नेतृत्व के लिए पारिवारिक सदस्यों/निकट के लोगों के कारण परेशानी बताती है| इस युति के यहाँ दुबारा बनने के कारण इसका प्रभाव भी दोहरा हो गया है|
                    पवार का भाग्यांक 2 व आयु अंक 2  देश की स्वाधीनता के मूलांक 8, देश की स्वाधीनता के मूलांक 6, देश के नामांक 3 व देश की चलित दशा के अंक 6 के साथ मित्र युति बनाता है| वैसे तो ये युतियाँ शुभ होती हैं, किन्तु स्त्री अंक ख़राब होने के कारण ये विपरीत बैठती हैं| अंक 2 व अंक 8 की युति लोकतान्त्रिक लड़ाई में साथ/सहयोग/गठबंधन में हानि बताती है| इनका यह भाग्यांक 2 व आयु अंक 2 चुनावी वर्षांक 7 के साथ विरोधी युति बनाता है| दो स्त्री अंकों की यह पारस्परिक विरोधी युति पवार के लिए हानिकारक सिद्ध होंगी और वे भी दोहरे रूप में| एक तो पार्टीगत रूप में और दूसरे स्त्री प्रधानता वाले दल कांग्रेस के साथ मिल कर चुनाव लड़ने में| पवार का मूलांक 3 व जन्म का चलित अंक 3 देश की स्वाधीनता के भाग्यांक 8 के साथ मित्र युति बनाता है| यह युति निर्णयगत उठापटक बताती है| अंक 3 संतान का है और अंक 8 उठापटक का| अतः पवार की संतान यानि बेटी सुप्रिया सुले व संतान-सम भतीजे अजित पवार के कारण इनके लिए उठापटक या परेशानी सम्भव है| अंक 3 मित्रता व अंक 8 लोकतंत्र का भी है| संगत युतियों की विपरीतता के कारण यह युति पवार के लिए विपरीत फलदायी बन गयी है| अतः चुनावों के बाद पवार को पता चलेगा की कांग्रेस के साथ मिल कर चुनाव लड़ना इनके लिए कितना हानिकारक सिद्ध हुआ| यह भी सम्भव है कि पवार चुनावों के बाद कांग्रेस और यू पी ए को छोड़कर किसी और गठबंधन का हिस्सा बन जाएँ| इनका भाग्यांक 3 व जन्म का चलित अंक 3 देश की स्वाधीनता के मूलांक 6 व चलित दशा के अंक 6 के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है| यह युति सुख भंग करती है| अतः पवार के लिए इन चुनावों में परेशानी तो रहेगी| 
             पवार की चलित दशा का अंक
4 देश की स्वाधीनता के मूलांक 6 व चलित दशा के अंक 6 के साथ विरोधी युति बनाता है| नेतृत्व के लिए यह सुख भंगकारी युति है| इसका मतलब यह हुआ कि पार्टी के नेतृत्व को ऐसी बातों का सामना करना पड़ सकता है कि जो परेशान करेंगी| यह भाग्यांक देश की स्वाधीनता के भाग्यांक 8 के साथ विखंडन युति बनाता है| यह इसके लिए सबसे ज्यादा कष्टकारी बात है| यह युति पार्टी में टूट या विद्रोह भी करवा सकती है| यहाँ हम अपनी उस बात को वैसी की वैसी फिर रख रहे हैं कि जो हमने एन सी पी के सन्दर्भ में कही थी---" हालाँकि पितृ दोष वाले अजित पवार पितृ दोष वाले अपने चाचा शरद पवार से एक न एक दिन तो विद्रोह अवश्य करेंगे और उनकी यह पार्टी तोड़ या छोड़ कर अलग हो जाएँगे, किन्तु इन लोकसभा चुनावों में भी अजित पार्टी आलाकमान के लिए परेशानी खड़ी कर दें तो कोई अचम्भा नहीं होना चाहिए|"
                इनकी चलित दशा का अंक 4 देश की स्वाधीनता के भाग्यांक 8 के साथ विखंडन युति बनाता है| यह युति पवार के लिए शुभ नहीं है| यह इनकी पार्टी में टूट-फूट व विरोध-विद्रोह करवा सकती है| इनकी चलित दशा का अंक 4 देश की स्वाधीनता के आयु अंक 4 के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| अन्य अंकीय समीकरणों के प्रतिकूल होने के कारण यह युति पवार के लिए सुख भंगकारी सिद्ध हो सकती है| यह सुख भंगकारी युति दोहरे रूप में है| चलित दशा का अंक 4 देश की स्वाधीनता के मूलांक 6 व देश की चलित दशा के अंक 6 के साथ इसी फलित रूप में बैठा है| यही अवस्था इस भाग्यांक 4 व चुनावी वर्षांक 7 की युति की है| यह प्रबल मित्र युति संगत अंकीय समीकरणों की विपरीतता के कारण हानिकारक बन गयी है| अंक 4 पितृ अवस्था व अंक 7 रक्त-सम्बन्ध का है| अतः इस पार्टी में पितृ अवस्था यानि नेतृत्वगत वर्चस्व को लेकर रक्त-सम्बन्धियों में तगड़ी खींचातानी देखने को मिल सकती है| यह खींचातानी पवार की बेटी सुप्रिया सुले व भतीजे अजित पवार के बीच या इनके कारण हो जाए तो अचम्भा नहीं होना चाहिए| बहुत सम्भव है कि शरद पवार इस बार लोकसभा चुनाव ही न लड़ें| इस बार इनका कोई प्रमुख नेता या कुछ प्रमुख नेता चुनाव हार सकते हैं| पार्टी के मुखिया के रूप में पवार को झटका इस तरह भी झेला पड़ सकता है कि कोई प्रमुख नेता पार्टी छोड़ कर जा सकता है| 
               इसके अगले भाग में एक अन्य बात के साथ उपस्थित होंगे| वह कौनसी बात होगी, इस रहस्य पर से पर्दा तभी उठेगा| तब तक के लिए आज्ञा दीजिए| ......... आज के आनंद की जय| ............ जय श्री राम|