रविवार, 13 अप्रैल 2014

लोकसभा चुनाव 2014 : भाग-5 समाजवादी पार्टी---नहीं बनवा पाएगी अपना प्रधानमंत्री

जय श्री राम …………| आदरणीय मित्रो, प्रस्तुत है इस शृंखला का भाग-5| वैसे तो 21-22-23 दिसंबर, 2012 को जालंधर में ‘अखिल भारतीय सरस्वती ज्योतिष मंच’ की ओर से आयोजित अंतरराष्ट्रीय ज्योतिष सम्मेलन में अपने व्याख्यान में यह कह चुके हैं| आज इसके भाग-5 में समाजवादी पार्टी का अंकीय विश्लेषण प्रस्तुत है| यह विश्लेषण दैनिक ‘पंजाब केसरी’ की वेबसाइट http://www.punjabkesri.in पर दिनांक 22 फरवरी, 2014 को प्रकाशित हो चुका है|
 स्थापना-दिनांक:-02-10-1992
मूलांक:-4            भाग्यांक:-8           आयु अंक:-4 (22 वाँ वर्ष)            नामांक:-2              स्थापना का चलित अंक:-6 (-)               चलित दशा:-अंक 6 (वर्ष 2014 से वर्ष 2019 तक)

             राजनीतिक दृष्टिकोण से देश के सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण राज्य उत्तर प्रदेश की सता पर काबिज़ समाजवादी पार्टी के लिए ये लोकसभा चुनाव बहुत अहम हैं| कहा जाता है कि दिल्ली की सत्ता की सड़क उत्तर प्रदेश से जाती है| सपा का मूलांक 4 व आयु अंक 4 देश के आयु अंक 4 के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| यह अंक 4 देश के मूलांक 6 का विरोधी है| साथ ही यह देश के भाग्यांक 8 का प्रबल विरोधी है| इस कारण 04 अक्टूबर, 2014 तक तो सपा के लिए बहुत बुरा समय है| इसका आयु अंक 4 वृहदंक 22 से बनता है| अंक 2 परिवार/पार्टी/साथ/सहयोग/गठबधन/स्त्री/मनोवांछा व अंक 4 पितृ दोष व वरिष्ठता का है| अंक 22 व इसके मूलांक 4 का त्रिकोण यह बताता है कि इस अवधि में सपा को अपना कुनबा सम्भाले रखने में भी बहुत ज़ोर आएगा| वरिष्ठ सदस्यों की आपसी टकराहट इसके लिए बड़ी परेशानी साबित हो सकती है| इस उलझन को बढ़ाने में पारिवारिक सपाइयों का बड़ा हाथ हो सकता है| इसका तात्पर्य यह है कि मुलायम सिंह के परिवार के सदस्यों की पारस्परिक खींचातानी पार्टी के लिए उलझनें बढ़ा सकती है| साथ ही चुनाव पश्चात् साथी दलों या गठबंधन के मामले में भी सपा को बहुत दुविधा का सामना करना पड़ सकता है| इस पार्टी के लिए वर्तमान आयु अंक 4 से आयु अंक 8 यानि स्थापना के 22 वें वर्ष से 26 वें वर्ष तक की अवधि बहुत भारी पड़ेगी| इस अवधि में यह पार्टी समाप्त या समाप्त-सी हो जाएगी| सपा की स्थापना का चलित अंक 6 व इसकी चलित दशा का अंक 6 इसी के मूलांक 4, आयु अंक 4 व देश की स्वाधीनता के आयु अंक 4 के साथ विरोधी युति बनाता है| यह युति 'सुख भंग' की है| तात्पर्य यह है कि इस बार के लोकसभा चुनावों में सपा की अवस्था सुखद नहीं रहने वाली है|                
            सपा का मूलांक 4 व आयु अंक 4 चुनावी वर्षांक 7 का प्रबल मित्र है| यह देश की स्वाधीनता के आयु अंक 4 के साथ इसका प्रतिशत बढ़ा देता है| यह सपा के लिए अनुकूलता वाली बात है| अंक 4 पितृ दोष व वरिष्ठता तथा अंक 7 रक्त-सम्बन्ध का प्रतिनिधित्व करता है| अंक 4 के साथ इसकी युति बताती है कि रक्त-सम्बन्धों की दृष्टि से वरिष्ठ लोगों की खींचातानी के कारण पार्टी को परेशानी सम्भव है| यहाँ सपा के नामांक 2 के समीकरण भी संलग्न कर लिए जाएँ तो मामला विचित्र हो जाता है| अंक 2 परिवार व स्त्री का होता है| ऐसे में सपा की स्त्री (विशेषकर परिवार की स्त्री) उम्मीदवारों को हार का सामना करना पड़ सकता है| इसलिए यदि इस बार डिम्पल यादव या मुलायम के परिवार की किसी अन्य स्त्री उम्मीदवार को चुनावी समर में पराजय मिले तो अचम्भा नहीं होना चाहिए| सपा का भाग्यांक 8 बना है वृहदंक 26 से| हम पूर्व में उल्लेख कर ही चुके हैं कि अंक 2 परिवार/पार्टी/साथ/सहयोग/गठबंधन/स्त्री/मनोवांछा है| अंक 6 सुख/आनंद/अनुकूलता व अंक 8 तत्सम्बन्धी अवस्था को भंग करता है| अंक 2, अंक 6 व अंक 8 का त्रिकोण यह बताता है कि सपा को इस बार इन मोर्चों पर 'भंग अवस्था' के कारण प्रतिकूलता झेलनी पड़ सकती है| सपा का भाग्यांक 8 देश के आयु अंक 4 के साथ विखंडन युति बनाता है| यह युति पितृ अवस्था भंग करती है| इस में सपा के आयु अंक 4 व देश की स्वाधीनता के आयु अंक 4 के समीकरण संलग्न कर दें तो यह फलित मिलता है कि सपा का आगामी केंद्र सरकार पर कोई नियंत्रण नहीं होगा| यह पार्टी उस सरकार की 'पितृ अवस्था' में नहीं आ पाएगी| तब यह पार्टी 'पंच'/'सरपंच' की भूमिका में नहीं रह पाएगी| सपा का यह भाग्यांक 8 देश की स्वाधीनता के भाग्यांक 8 के साथ प्रतिरूप युति बना रहा है, जो कि विस्फोटक है| अंक 8 लोकतंत्र का है| अतः इस बार की इस लोकतान्त्रिक लड़ाई में समाजवादी पार्टी की मनोवांछा पूरी होने के कोई आसार नज़र नहीं आते| इस बार के लोकसभा चुनावों में सपा का प्रदर्शन पिछली बार से बेहतर न रह पाये तो कोई अचम्भा नहीं होना चाहिए| 
                      अगले भाग में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव की बात करेंगे| ............ जय श्री राम|