रविवार, 17 अप्रैल 2011

विधानसभा चुनाव-2011::: भाग-4 : केरल-इस बार यू डी एफ

(प. बंगाल, तमिलनाडू, केरल, असम और पुड्डुचेरी के हालिया विधानसभा चुनावों की भविष्यवाणी हमारे मासिक अख़बार ‘अंक प्रभा’ के अप्रेल के अंक में पढ़ी जा सकती है)
जय श्री राम............| आदरणीय मित्रो, लीजिए प्रस्तुत है इस शृंखला की चौथी कड़ी में केरल की बात|
केरल
नामांक-5       मूलांक-1     भाग्यांक-6         आयु-अंक-1           चलित दशा-3  
इस की चलित दशा (3) मूलांक (1) + आयु-अंक (1) + भाग्यांक (6) + मतदान के चलित (9) + मतगणना के चलित (6) + मतगणना के दिन-अंक (6) के साथ मित्र-युति तथा मतदान के भाग्यांक (3) के साथ प्रतिरूप युति बनाती है|  इसका आयु-अंक (1) + मूलांक (1) मतदान के मूलांक (4) + मतगणना के मूलांक (4 ) + मतगणना के भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) के साथ मित्र युति बनाता है|  इस का नामांक (5) मतदान के दिन-अंक (5) के साथ मित्र युति बनाता है| पिछली बार केरल के आयु-अंक 5 ( 50 वाँ वर्ष) तथा चलित वर्षांक 8 ( वर्ष 2006) की युति में सरकार बदली थी| इस बार आयु-अंक (1) तथा चलित वर्षांक (4) की पितृदोषात्मक युति में सत्ता का पितृ स्वरुप यानि कब्ज़ाधारी दल/ गठबंधन बदल जाएगा| वर्तमान सरकार के गठबंधन 'वाम लोकतांत्रिक मोर्चा' का अंक (8) केरल के आयु-अंक (1) के साथ द्रोहात्मक युति बनाता है| यह युति सता से वंचित रखती है| केरल की चलित (3) के साथ इस मोर्चे के अंक (8) की युति चुनाव/ निर्णय में विपरीतता बताती है| अत: इस बार 'वाम लोकतांत्रिक मोर्चा' को सता से बाहर बैठना पडेगा| कांग्रेस की प्रधानी वाले 'संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा' का नामांक 4 है| केरल का मूलांक (1) + आयु-अंक (1) इस के साथ मित्र युति बनाता है, किन्तु यह युति पितृदोष वाली है| इसके साथ चलित दशा की युति पक्ष में निर्णय बताती है| चलित वर्षांक (4) का योग इस युति की प्रबलता बढ़ा देता है, किन्तु यह युति गुप्त/ अप्रकट पितृ पुरुष की ओर भी संकेत करती है| अतः यह हो सकता है कि 'संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा' के सता में आने पर मुख्यमंत्री के रूप में वह व्यक्ति सामने आये, जो कि अभी तस्वीर में नहीं है| तात्पर्य यह है कि कांग्रेस/ 'संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा' जिस के नेतृत्व में यह चुनाव लड़ रहा है, संभवतः वह व्यक्ति मुख्यमंत्री न बने, कोई और बन जाए|
भारतीय मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी
इस का नामांक (1)  केरल के मूलांक (1) + आयु-अंक (!) के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| मतदान का चलित (9) + मतगणना का चलित (6) इस के नामांक (1) के साथ मित्र युति तथा आयु-अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| इसका नामांक (1) चलित वर्षांक (4) + मतदान के मूलांक (4) + मतगणना के मूलांक (4) + मतगणना के भाग्यांक (4) के साथ मित्र युति तथा आयु-अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| मतदान का भाग्यांक (3) इस के नामांक (1) के साथ मित्र युति तथा इस के आयु-अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| मतदान का दिन-अंक (5) इस पार्टी के आयु-अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| मतगणना का दिन-अंक (6) इस लिए ठीक-ठीक है|
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी
इस का नामांक (8) + मूलांक (8) आयु-अंक (1) के साथ द्रोहात्मक युति बनाता है| यह युति सत्ता विरोधी है| यह इस पार्टी को सत्ता से वंचित रखेगी| ये नामांक-मूलांक चलित वर्षांक (4) + मतदान के मूलांक (4) + मतगणना के मूलांक (4) + मतगणना के भाग्यांक (4) के साथ विखंडन युति बना रहे हैं| यह युति सता/ आधिपत्य/ अधिकार के विरुद्ध है| इसलिए इस दल की सत्ता से विदाई तय है| इस पार्टी का भाग्यांक (3) + चलित दशा (3) के साथ मतदान का भाग्यांक (3) प्रतिरूप युति बनाता है| इस भाग्यांक-चलित दशा के साथ मतदान का चलित (9) + मतगणना का चलित (6) मित्र युति बनाता है| इसलिए कुछ राहत की बात रह सकती है| यह राहत इस रूप में मिल सकती है कि सीटों की संख्या वर्तमान संख्या (17) के आस-पास रह जाए, ज्यादा निराशाजनक न रहे|
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
 इस का भाग्यांक (1) केरल के मूलांक (1) + आयु-अंक (1) के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| इस का नामांक (3) केरल की चलित दशा (3) के साथ मित्र युति तथा केरल के भाग्यांक (6) के साथ मित्र युति बनाता है| मतदान का चलित (9) + मतगणना का चलित (6) इस पार्टी के नामांक (3) के साथ मित्र युति तथा आयु-अंक (7) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| मतदान का मूलांक (4) + मतगणना का मूलांक (4) + मतगणना का भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) पार्टी के भाग्यांक (1) के साथ मित्र युति तथा पार्टी के मूलांक (2) + आयु-अंक (7) + चलित दशा (7) के साथ अपूर्णता/ अतृप्तिकारी युति बनाता है| यह हानिकारक है| मतदान का दिन-अंक (5) पार्टी के मूलांक (2) + आयु-अंक (7) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| मतदान का भाग्यांक (3) पार्टी के नामांक (3) के साथ प्रतिरूप युति तथा आयु-अंक (7) + चलित दशा (7) + मूलांक (2) के साथ विरोधी युति बनाता है| इस विश्लेषण से यह पता चलता है कि इस बार कांग्रेस सत्ता में आने वाली है|
सोनिया गाँधी
इनका नामांक (9) + मूलांक (9) + चलित दशा (6) केरल की दशा (3) के साथ मित्र युति बनाता है| इनका नामांक (9) + मूलांक (9)  मतदान के मूलांक (4) + मतगणना के मूलांक (4) + मतगणना के भाग्यांक (4) के साथ चुनावों में विजय के दृष्टिकोण से अनुकूल युति बनाता है, किन्तु यह युति अपूर्णता/ असंतोष की परिचायक है| इसलिए प्रतिद्वंद्वियों के साथ निकट की लड़ाई या बहुमत में कमी रह सकती है| मतदान का दिन-अंक (5) के साथ इनका भाग्यांक (5) प्रतिरूप युति तथा आयु-अंक (2) के साथ विरोधी युति बनाता है| मतदान का भाग्यांक (3) इनके नामांक (9) + मूलांक (9) के साथ मित्र युति तथा आयु-अंक (2) के साथ विरोधी युति बनाता है| मतगणना का दिन-अंक (6)  इनकी चलित दशा (6) के साथ प्रतिरूप युति तथा नामांक (9) + मूलांक (9) के साथ मित्र युति बनाता है| इस प्रकार इस बार सोनिया गाँधी के नेतृत्व का फायदा कांग्रेस को सत्तासीन होने के रूप में मिलेगा|
वी.एस. अच्युतानंदन
नामांक-1    मूलांक-2    भाग्यांक-9   आयु-अंक-7    चलित दशा-3
निवर्तमान मुख्यमंत्री वी.एस. अच्युतानंदन का नामांक (1) केरल के मूलांक (1) + आयु-अंक (1) के साथ प्रतिरूप युति तथा केरल के नामांक (4) + मतदान के मूलांक (4) + मतगणना के मूलांक (4) + मतगणना के भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) के साथ मित्र युति बनाता है| इनकी चलित दशा (3) केरल की चलित दशा (3) के साथ प्रतिरूप युति बनाती है| इनका भाग्यांक (9) मतदान के चलित (9) के साथ प्रतिरूप युति तथा मतगणना के के चलित (6) के साथ  मित्र युति बनाता है| इनका आयु-अंक (7) इनकी चलित दशा (3) + केरल की चलित दशा (3) के साथ विरोधी युति बना रहा है| यह आयु-अंक (7) चलित वर्षांक (4) के साथ हानिकारक युति बना रहा है| यह युति इच्छा-पूर्ति में बाधा बताती है| मतदान का दिन-अंक (5) इनके आयु-अंक (7) + मूलांक (2) के साथ विरोधी युति बनाता है| मतगणना का दिन-अंक (6) इनके अनुकूल है| इनकी पिछली शपथ-ग्रहण का मूलांक (9) व भाग्यांक (4) था| इनकी युति अतृप्ति की परिचायक है| हालाँकि यह युति तमाम झटकों के बाद भी दबदबा भी क़ायम रखती है| इसीलिए अच्युतानंदन अपने ही लोगों के प्रबल विरोध के बाद भी पाँच साल सरकार चला गये| इस बार अंक 9 के चलित में अंक 4 के वर्ष में यह अतृप्तिकारी युति प्रबल है| इसलिए इन्हें सत्ता से जाना होगा|  
              मित्रो, यह तो थी केरल की बात| कल इस की अंतिम कड़ी में हम बात करेंगे पुड्डुचेरी की| साथ आप की सेवा में होंगे अखबार 'अंक प्रभा' के अप्रेल माह के दो पृष्ठ| अब आज्ञा दीजिए| ......... आज के आनंद की जय| ............ जय श्री राम|