शनिवार, 16 अप्रैल 2011

विधानसभा चुनाव-2011 ::: भाग-2 : प. बंगाल-आएगी ममता पर ‘ममता’

जय श्री राम…………| आदरणीय मित्रो, अभी सिलसिला चल रहा है पाँच राज्यों के विधानसभा चुनावों की बातों का| आज हम हैं माता अहिल्या की ऐतिहासिक नगरी इंदौर; और बात करने जा रहे हैं प. बंगाल की| सारा देश बहुत जिज्ञासु भाव से देख रहा है कि क्या तैंतीस वर्षों से चला आ रहा वाम दलों का साम्राज्य उखड़ जाएगा या फिर सभी आशंकाओं को धत्ता बताते हुए वे फिर से शासन पर काबिज़ हो जाएँगे? तो आइए शुरू करते हैं यह बात|
प. बंगाल
नामांक-1 मूलांक-1 भाग्यांक-4 आयु अंक-6/7 चलित दशा-8
मतदान के पहले तीन चरणों में 51 वें वर्ष के कारण आयु अंक 6 प्रभावी रहेगा, जब कि मतदान के शेष तीन चरणों में 52 वें वर्ष के कारण आयु अंक 7 प्रभावी रहेगा| इसका नामांक (1) + मूलांक (1) मतगणना के मूलांक (4) + मतगणना के भाग्यांक (4) के साथ पितृदोषकारी मित्र युति बनाता है| यह युति पितृ-सत्ता (GODFATHER POWER) में विचलन की ओर संकेत कर रही है| मतगणना के समय प. बंगाल का आयु अंक (7) के साथ यह पितृदोषकारी मित्र युति हृदय-परिवर्तन बता रही है| किसी चुनाव के सन्दर्भ में इसका अर्थ हो जाता है-वर्तमान सता-स्वरुप के परिवर्तन के लिए यानि इसके विरुद्ध निर्णय| इस आधार पर प. बंगाल में सत्ता-परिवर्तन के संकेत मिल रहे हैं| यह युति स्त्री-पितृ प्रधानता बताती है| चूँकि वाम दलों के ख़िलाफ़ खड़ी दोनों पार्टियों की प्रमुख स्त्रियाँ हैं तथा ये चुनाव स्त्री (ममता बनर्जी ) को ही मुखिया बना कर लड़े जा रहे हैं| इस प्रकार प. बंगाल के अंकों का यह विश्लेषण बताता है कि इस बार यहाँ स्त्री-सत्ता आने जा रही है| इस राज्य की चलित दशा (8) इसके नामांक (1) + मूलांक (1) के साथ द्रोहात्मक युति बनाता है| यह युति सत्ता से दूर ले जाती है| यह चलित दशा (8) प. बंगाल के भाग्यांक (4) + मतगण के मूलांक (4) + मतगणना के भाग्यांक (4) के साथ विखंडन युति बनाती है| यह विरासत की सत्ता/सत्ता की क्रम-बद्धता के विरुद्ध जाती है| इस का तात्पर्य यह है कि वाम दलों की सत्ता का जो क्रम चला आ रहा है, यह युति उसके विरुद्ध जाती है| एक बात और| बुद्धदेब भट्टाचार्य ने ज्योति बसु की विरासत ही की सत्ता संभाली थी| इस प्रकार यहाँ ये दोनों ही बातें लागू होती हैं| अतः इस बार वाम दलों को 33 साल बाद सत्ता से बाहर होना पड़ेगा|
भारतीय मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी
नामांक-1 आयु अंक-2 (47 वाँ वर्ष) चलित दशा-7

प. बंगाल वाम दल माकपा की अगुआई में चुनाव लड़ रहे हैं| इस दल की स्थापना 31 अक्टूबर से 7 नवम्बर, 1964 की अवधि में हुई| अतः इसका सही-सही मूलांक-भाग्यांक नहीं बना, सिर्फ स्थापना के चलित की ही बात की जा सकती है और वह है-अंक 9 | इस का नामांक (1) राज्य के नामांक (1) + मूलांक (1) के साथ प्रतिरूप युति, भाग्यांक (4) के साथ पितृदोषात्मक मित्र युति, आयु अंक (7) के साथ अतृप्तिकारी युति तथा चलित दशा (8) के साथ द्रोहात्मक युति बनाता है| मतदान के पहले चरण का मूलांक (9) + सीट संख्या (9) इसके नामांक (1) से मित्र युति, आयु अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| इस चरण का भाग्यांक (8) माकपा के आयु अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ इच्छा-पूर्ति में बाधक युति तथा पार्टी के नामांक (1) के साथ द्रोहात्मक युति बनाता है| यह युति सत्ता से दूर ले जाती है. मतदांक के दूसरे चरण का मूलांक (5) + सीट संख्या (5) + भाग्यांक (4) माकपा के आयु अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| इस अंक का भाग्यांक (4) पार्टी के नामांक (1) के साथ मित्र युति बनाता है| मतदान के तीसरे चरण के अंकीय समीकरण पहले चरण के अंकीय समीकरणों के लगभग सामान हैं| मतदान के चौथे चरण का मूलांक (3) + भाग्यांक (3) + सीट संख्या (9) इस पार्टी के नामांक (1) के साथ मित्र युति तथा आयु अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| मतदान के पाँचवें चरण का मूलांक (7) + भाग्यांक (7) + सीट संख्या (2) माकपा के आयु अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ मित्र युति व प्रतिरूप युति बनाता है| मतदान के छठे चरण का मूलांक (1) + भाग्यांक (1) माकपा के नामांक (1) के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| इस चरण की सीट संख्या (5) माकपा के आयु अंक (2) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| इस पार्टी का नामांक (1) मतगणना के मूलांक (4) + भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) के साथ पितृदोषात्मक मित्र युति बनाता है| यह विरासत की राजनीति/ सत्ता की क्रमबद्धता के विरुद्ध जाती है| अतः इस बार यह पार्टी सत्ता-सुख नहीं ले पाएगी|
भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी
नामांक-8 मूलांक-8 भाग्यांक-3 आयु अंक-1 (91 वाँ वर्ष) चलित दशा-3
इस के भाग्यांक (3) व चलित दशा (3) में प्रतिरूप युति, इनके और आयु अंक (1) में मित्र युति तथा इनके नामांक (8) + मूलांक (8) में विपरीत निर्णयकारी युति बनती है| मतदान के पहले चरण का मूलांक (9) + सीट संख्या (9) भाकपा के भाग्यांक (3) + चलित दशा (3) + आयु अंक (1) के साथ मित्र युति तथा नामांक (8) + मूलांक (8) के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है| यही स्थिति तीसरे चरण की है| दूसरे चरण का मूलांक (5) + सीट संख्या (5) + भाग्यांक (4) भाकपा के नामांक (8) + मूलांक (8) के साथ अस्थिरताकारी व विस्फोटक विरोधी युति बनाता है| चौथे चरण का मूलांक (3) + भाग्यांक (3) इसके नामांक (8) + मूलांक (8) के साथ विपरीत निर्णयकारी, भाग्यांक (3) + चलित दशा (3) के साथ प्रतिरूप युति तथा आयु अंक (1) के साथ मित्र युति बनाता है| पाँचवें चरण का मूलांक (7) + भाग्यांक (7) + सीट संख्या (2) इस दल के नामांक (8) + मूलांक (8) के साथ अतृप्तिकारी युति तथा भाग्यांक (3) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| इसका नामांक (8) + मूलांक (8) मतदान के छठे चरण के मूलांक (1) + भाग्यांक (1) के साथ द्रोहात्मक युति बनाता है, जो कि सत्ता से दूर रखती है| भाकपा का भाग्यांक (3) + चलित दशा (3) मतदान के छठे चरण के मूलांक (1) + भाग्यांक (1) के साथ विपरीत निर्णयकारी युति बनाता है| यह युति चुनाव में विपरीत निर्णय करवाती है| मतगणना का मूलांक (4) + भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) भाकपा के नामांक (8) + मूलांक (8) के साथ विखंडन युति तथा भाग्यांक (3) + आयु अंक (1) + चलित दशा (3) के साथ मित्र युति बनाता है| इन उपर्युक्त युतियों में विपरीत युतियों की बहुलता के कारण भाकपा को इस बार सत्ता से बाहर बैठना पड़ेगा|
बुद्धदेब भट्टाचार्य
नामांक-2 मूलांक-1 भाग्यांक-4 आयु अंक-5 (68 वाँ वर्ष) चलित दशा-9 (दूसरी तिहाई)
इनके नामांक (2) तथा आयु अंक (5) में विरोधी युति है| इसी प्रकार भाग्यांक (4) के साथ नामांक (2) की युति इच्छा-पूर्ति में बाधा उत्पन्न करती है तथा भावनात्मक झटका देती है| मतदान के पहले चरण का मूलांक (9) + सीट संख्या (9) इनकी चलित दशा की तिहाई के साथ मित्र युति बनाता है| इसी चरण का भाग्यांक (8) इनके मूलांक (1) के साथ सत्ता विरोधी द्रोहात्मक युति, आयु अंक (5) के साथ अस्थिरता युति, भाग्यांक (4) के साथ विखंडन युति तथा नामांक (2) के साथ इच्छापूर्ति में बाधक युति बनाता है| यही स्थिति तीसरे चरण की है| दूसरे चरण का मूलांक (5) + सीट संख्या (5) इनके आयु अंक (5) के साथ तथा इसी चरण का भाग्यांक (4) इनके भाग्यांक (4) के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| चौथे चरण का मूलांक (3) + भाग्यांक (3) इसके नामांक (2) के साथ विरोधी युति, मूलांक (1) + भाग्यांक (4) के साथ मित्र युति बनाता है| पाँचवें चरण का मूलांक (7) + भाग्यांक (7) + सीट संख्या (2) इस दल के नामांक (2) के साथ प्रतिरूप व मित्र युति, आयु अंक (5) के साथ विरोधी युति तथा भाग्यांक (4) के साथ इच्छा-पूर्ति में बाधा उत्पन्न करने वाली व भावनात्मक झटका देने वाली युति बनाता है| इनका मूलांक (1) + भाग्यांक (4) मतदान के छठे चरण के मूलांक (1) + भाग्यांक (1) के साथ मित्र युति बनाता है| इसी चरण की सीट संख्या (5) बुद्धदेब के नामांक (2) के साथ विरोधी युति तथा आयु अंक (5) के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| मतगणना का मूलांक (4) + भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) इनके नामांक (2) के साथ इच्छापूर्ति में बाधक युति, मूलांक (1) के साथ मित्र युति तथा भाग्यांक (4) प्रतिरूप युति बनाता है| यह विश्लेषण बताता है कि इस बार बुद्धदेब भट्टाचार्य और उनकी पार्टी को चुनावों में मात खानी पड़ेगी| अब इनके सत्ता से वनवास का समय आ गया है| इनकी चलित दशा वर्ष 2016 तक है| अतः वर्ष 2016 की समाप्ति से पहले इनकी सत्ता में वापसी संभव है| यह समय 1 मार्च, 2016 तक भी संभव है|
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
नामांक-3 मूलांक-2 भाग्यांक-1 आयु अंक-7 चलित दशा-7

कांग्रेस का नामांक (3) मूलांक (2) + आयु अंक (7) + चलित दशा (7) के साथ विरोधी युति तथा भाग्यांक (1) के साथ मित्र युति बनाता है| इस पार्टी का अगला आयु वर्ष है-35 वाँ| यह निर्णयगत अस्थिरता के कारण बहुत बुरा वर्ष रहेगा, विशेषकर सोनिया गाँधी के प्रमुखत्व के सन्दर्भ में| इस के मूलांक (2), आयु अंक (7) व चलित दशा (7) में मित्र युति तथा आयु अंक (7) व चलित दशा (7) में प्रतिरूप युति है| मतदान के पहले चरण का मूलांक (9) + सीट संख्या (9) कांग्रेस के नामांक (3) के साथ मित्र युति तथा मूलांक (2) + चलित दशा (7) + आयु अंक (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| यही स्थिति तीसरे चरण की है| दूसरे चरण का मूलांक (5) + सीट संख्या (5) मूलांक (2) + चलित दशा (7) + आयु अंक (7) के साथ विरोधी युति बनाता है| चौथे चरण का मूलांक (3) + भाग्यांक (3) इसके मूलांक (२) + चलित दशा (7) + आयु अंक (7) के साथ विरोधी युति, नामांक (3) के साथ प्रतिरूप युति तथा भाग्यांक अंक (1) के साथ मित्र युति बनाता है| पाँचवें चरण का मूलांक (7) + भाग्यांक (7) + सीट संख्या (2) इस दल के नामांक (2) + आयु अंक (7) + चलित दशा (7) के साथ मित्र व प्रतिरूप युति बनाता है| मतदान के छठे चरण के मूलांक (1) + भाग्यांक (1) के साथ इसका नामांक (3) मित्र युति तथा भाग्यांक (1) प्रतिरूप युति बनाता है| छठे चरण की सीट संख्या (5) इस दल के मूलांक (2) + चलित दशा (7) + आयु अंक (7) के साथ विरोधी युति बनाती है| मतगणना के मूलांक (4) + भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) + मतदान के दूसरे चरण के भाग्यांक (4) के साथ इसका नामांक (3) + भाग्यांक (1) मित्र युति तथा भाकपा के नामांक (8) + मूलांक (8) के साथ विखंडन युति तथा भाग्यांक (3) + आयु अंक (1) + चलित दशा (3) के साथ मित्र युति मूलांक (2) + चलित दशा (7) + आयु अंक (7) के साथ विरोधी युति बनाता है, जो कि भावनात्मक झटके देती है व इच्छापूर्ति में बाधक है| इस विश्लेषण से स्पष्ट है कि कांग्रेस की पक्षधर युतियाँ इस बार के चुनावों में उसे सत्ता में भागीदार बना सकती हैं|
सोनिया गाँधी
नामांक-9 मूलांक-9 भाग्यांक-5 आयु अंक-2 (65 वाँ वर्ष ) चलित दशा-8

इनके भाग्यांक (5) व आयु अंक (2) में विरोधी युति बनाती है, जो कि हानिकारक है| चलित दशा (8) आयु अंक (2) के साथ इच्छा-पूर्ति में बाधा बताती है| यह भाग्यांक (5) के साथ अस्थिरता उत्पन्न करती है| मतदान के पहले चरण का मूलांक (9) + सीट संख्या (9) इनके नामांक (9) + मूलांक (9) के साथ प्रतिरूप युति तथा आयु अंक (2) + चलित दशा (8) के साथ विरोधी युति बनाता है| इसी चरण का भाग्यांक (8) इनके नामांक (9) + मूलांक (9) के साथ प्रबल विरोधी युति, आयु अंक (2) के साथ अतृप्तिकारी युति तथा चलित दशा (8) के साथ विस्फोटक प्रतिरूप युति बनाता है| यही स्थिति तीसरे चरण की है| दूसरे चरण का मूलांक (5) + सीट संख्या (5) इस दल के आयु अंक (2) + चलित दशा (8) के साथ विरोधी युति तथा भाग्यांक (5) के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| चौथे चरण का मूलांक (3) + भाग्यांक (3) इनके नामांक (9) + मूलांक (9) के साथ मित्र युति, चलित दशा (8) के साथ विपरीत निर्णयकारी युति तथा आयु अंक (2) के साथ विरोधी युति बनाता है| पाँचवें चरण का मूलांक (७) + भाग्यांक (७) + सीट संख्या (2) इनके आयु अंक (2) के साथ मित्र युति तथा नामांक (9) + मूलांक (9) + चलित दशा (8) इच्छापूर्ति में बाधक युति बनाता है| मतदान के छठे चरण के मूलांक (1) + भाग्यांक (1) के साथ इनका नामांक (9) + मूलांक (9) मित्र युति तथा चलित दशा (8) द्रोहात्मक युति बनाता है| छठे चरण की सीट संख्या (5) इनकी चलित दशा (8) + आयु अंक (2) के साथ विरोधी युति और भाग्यांक (5) के साथ प्रतिरूप युति बनाती है| मतगणना के मूलांक (4) + भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) + मतदान के दूसरे चरण के भाग्यांक (4) के साथ इसका नामांक (9) + मूलांक (9) चुनाव में विजयदायिनी युति, कांग्रेस की चलित दशा (8) के साथ विखंडन युति तथा आयु अंक (2) के साथ अतृप्तिकारी विरोधी युति बनाता है, जो कि भावनात्मक झटके देती है व इच्छापूर्ति में बाधक है| पक्षकारी युतियों ( विशेषकर मतगणना के दिन वाली युतियों) के कारण सोनिया गाँधी का दल सत्ता प्राप्ति कर सकता है|
अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस
नामांक-2 मूलांक-1 भाग्यांक-2 आयु अंक-5 (14 वाँ वर्ष) चलित दशा-9 (दूसरी तिहाई)

इसका नामांक (2) + भाग्यांक (2) आयु अंक (5) + चलित दशा की तिहाई के साथ विरोधी युति बनाता है|मतदान के पहले चरण का मूलांक (9) + सीट संख्या (9) इसके नामांक (2) + भाग्यांक (2) के साथ विरोधी युति बनाता है| इसी चरण का भाग्यांक (8) इनके नामांक (2) + भाग्यांक (2) के साथ इच्छापूर्ति में बाधक युति, मूलांक (1) के साथ द्रोहात्मक युति तथा आयु अंक (5) के साथ अस्थिरताकारी युति बनाता है| अंक 2 व अंक 8 की युति स्त्री तथा साझेदारी विरोधी है| यही स्थिति तीसरे चरण की है| दूसरे चरण का मूलांक (5) + सीट संख्या (5) + छठे चरण की सीट संख्या (5) इस दल के आयु अंक (5) के साथ प्रतिरूप युति, नामांक (2) + भाग्यांक (2) के साथ विरोधी युति बनाता है| चौथे चरण का मूलांक (3) + भाग्यांक (3) इस दल के मूलांक (1) के साथ मित्र युति तथा नामांक (2) + भाग्यांक (2) के साथ विरोधी युति बनाता है| पाँचवें चरण का मूलांक (7) + भाग्यांक (7) + सीट संख्या (2) इसके नामांक (2) + भाग्यांक (2) के साथ मित्र व प्रतिरूप युति तथा चलित दशा की तिहाई के साथ विरोधी युति बनाता है| मतदान के छठे चरण के मूलांक (1) + भाग्यांक (1) के साथ इस दल का मूलांक (1) प्रतिरूप युति तथा चलित दशा की तिहाई के साथ मित्र युति बनाता है| मतगणना के मूलांक (4) + भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) + मतदान के दूसरे चरण के भाग्यांक (4) के साथ इसका नामांक (2) + भाग्यांक (2) अतृप्तिकारी विरोधी युति मूलांक (1) + चलित दशा की तिहाई के साथ मित्र युति बनाता है| अतः उक्त विश्लेषण बताता है कि तृणमूल कांग्रेस सत्ता पर काबिज़ होने जा रही है. चूँकि अंक 2 व अंक 8 की युति स्त्री विरोधी व साझेदारी विरोधी युति है, इसलिए दो स्त्रियों ( ममता व सोनिया) के नेतृत्व वाले दलों की सरकार बन भी जाएगी तो इस के स्थायित्व को लेकर पूरा-पूरा ख़तरा रहेगा| वैसे भी सोनिया गाँधी के भाग्य में साझेदार स्त्री/ स्त्री अंकों वाले पुरुषों से झटकों का योग है| इसलिए इनकी साझेदारी के कारण प. बंगाल में कहीं समय से पहले विधानसभा चुनाव की नौबत नहीं आ जाए|
ममता बनर्जी
नामांक-5 मूलांक-5 भाग्यांक-8 आयु अंक-3 (57 वाँ वर्ष) चलित दशा-2
इनका नामांक (5) + मूलांक (5) चलित दशा के साथ विरोधी युति बनाता है| आयु अंक (3) के साथ भाग्यांक (8) की युति ग़लत निर्णय करवाती है| चलित दशा (2) के साथ भाग्यांक (8) की युति वही स्त्री विरोधी व साझेदारी विरोधी युति है, जिसकी चर्चा हम ममता की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के अंकीय विश्लेषण में कर चुके हैं| नामांक (5) + मूलांक (5) व भाग्यांक (8) की युति इन्हें सदैव अस्थिरमना रखती है| मतदान के पहले चरण का मूलांक (9) + सीट संख्या (9) इनके भाग्यांक (8)+ चलित दशा (2) के साथ विरोधी युति तथा आयु अंक (3) के साथ मित्र युति बनाता है| इसी चरण का भाग्यांक (8) इनके नामांक (5) + मूलांक (5) के साथ अस्थिरता-कारी युति, आयु अंक (3) के साथ विपरीत निर्णय-कारी युति तथा चलित दशा (2) के साथ अतृप्तिकारी युति तथा भाग्यांक (8) के साथ विस्फोटक प्रतिरूप युति बनाता है| यही स्थिति तीसरे चरण की है| दूसरे चरण का मूलांक (5) + सीट संख्या (5) इनके नामांक (5) + मूलांक (5) के साथ प्रतिरूप युति, भाग्यांक (8) के साथ अस्थिरताकारी युति, चलित दशा (2) के साथ विरोधी युति बनाता है| चौथे चरण का मूलांक (3) + भाग्यांक (3) इनके आयु अंक (3) के साथ मित्र युति, चलित दशा (2) के साथ विरोधी युति तथा भाग्यांक (8) के साथ विपरीत निर्णयकारी युति बनाता है| पाँचवें चरण का मूलांक (7) + भाग्यांक (7) + सीट संख्या (2) इनकी चलित दशा (2) के साथ मित्र युति तथा नामांक (5) + मूलांक (5) के साथ विरोधी युति तथा भाग्यांक (8) के साथ इच्छापूर्ति में बाधक युति बनाता है| मतदान के छठे चरण के मूलांक (1) + भाग्यांक (1) के साथ इनका आयु अंक (3) मित्र युति तथा भाग्यांक (8) द्रोहात्मक युति बनाता है| छठे चरण की सीट संख्या (5) इसकी चलित दशा (2) + भाग्यांक (8) के साथ विरोधी युति और नामांक (5) + मूलांक (5) के साथ प्रतिरूप युति बनाती है| मतगणना के मूलांक (4) + भाग्यांक (4) + चलित वर्षांक (4) + मतदान के दूसरे चरण के भाग्यांक (4) के साथ इनका भाग्यांक (8) विखंडन युति,चलित दशा (2) के साथ ग्रहण योग तथा आयु अंक (3) के साथ मित्र युति बनाता है| इनका नामांक (5) + मूलांक (5) सोनिया गाँधी के भाग्यांक (5) तथा इनकी चलित दशा (2) सोनिया के आयु अंक (2) के साथ प्रतिरूप युति, इनका आयु अंक (3) सोनिया के नामांक (9) + मूलांक (9) के साथ मित्र युति बनाता है| इस समानता के कारण इन दोनों की अगुआई में इनके दल साथ मिल कर लड़ रहे हैं| ये दोनों दल इस बार प. बंगाल में सत्ता प्राप्त भी कर लेंगे| हाँ, इन्हें इस (सत्ता-प्राप्ति) के लिए कुछ और साथियों की ज़रुरत भी पड़ेगी|
मित्रो, आज तो बस इतना ही| कल बात करेंगे तमिलनाडु की| तब तक के लिए आज्ञा दीजिए| आज के आनंद की जय………| जय श्री राम…………|