बुधवार, 7 अप्रैल 2010

मुलायम के ख़िलाफ़ बहू डिम्पल:हमारी भविष्यवाणी सही रही

जय श्री राम ............ | आदरणीय मित्रो, आज तो हम आप की सेवा में बस एक छोटी-सी चर्चा ही करने ही उपस्थित हुए हैं | आज से पाँच दिन पहले यानि 02 अप्रेल को अख़बारों में एक ख़बर छपी | वैसे तो यह ख़बर कई अख़बारों में छपी थी,मगर हम यहाँ 'राजस्थान पत्रिका' के जयपुर संस्करण में छपी की कटिंग संलग्न कर रहे हैं | पृष्ठ संख्या 10 पर छपी यह ख़बर इस प्रकार है---" लखनऊ | संसद में महिला आरक्षण का धुआंधार विरोध कर रहे मुलायम सिंह यादव को अब इस मुद्दे पर सब से बड़ी लड़ाई अपने घर के अन्दर लड़नी पड़ेगी | मुलायम सिंह यादव की बहू डिम्पल यादव अब इस मामले में खुल कर अपने ससुर के खिलाफ अ गई है | डिम्पल यादव का कहना है कि यदि महिलाओं का संसद में आना सुनिश्चित हो जाता है तो इस से देश में महिलाओं के हालात में सुधार होगा और उन्हें आगे बढ़ने के मौके मिलेंगे | डिम्पल की इस टिप्पणी पर कुछ भी कहने से फिलहाल मुलायम ने इनकार किया है | "  
              मुलायम सिंह के घर में हुई उन की इस ख़िलाफ़त की भविष्यवाणी हम कर चुके थे | नव वर्ष 2010 सम्बन्धी आलेखों की श्रृंखला  के अंतर्गत 04 जनवरी  के आलेख 'वर्ष 2010 में भारतीय राजनीति:-भाग 3 ' में 'मुलायम सिंह यादव एवं समाजवादी पार्टी' उपशीर्षक के अंतर्गत हम ने यह लिखा था---"अपने आप को राम मनोहर लोहिया की विचारधारा का ध्वजवाहक मानने वाले मुलायम सिंह यादव का नामांक है-5 | इस का वृहदंक है-50 | यह 20-17-13 से बना है | इन का मूलांक समीकरण बनाता है 2-8-4 | यह परिवार के स्तर पर कुछ विचित्रताएँ सूचित करता है | मुलायम के यहाँ ये विचित्रताएँ हैं | हम यहाँ उन के स्वरूप-विश्लेषण में नहीं जाएँगे क्यों की वह सार्वजनिक चर्चा का विषय नहीं है |............हम ने (मुलायम की जन्म तारीख़) 22-11-1939 को काम लिया है | कारण यह है कि इस का मूलांक है-4 | यह पितृदोष का अंक है | यह बना है 22 से,जो कि परिवार/पार्टी के स्तर पर पूर्वोक्त विचित्रताओं का समर्थ करता है | ............ इन्हें प्रतिष्ठा-हानि का भय है | इन्हें अपने राजनीतिक वर्चस्व को ले कर ख़ासा परेशां होना पड़ सकता है | इन के दल समाजवादी पार्टी का नामांक है-2 | यह स्त्री अंक है तथा मुलायम के यहाँ ख़राब है | इस लिए इन कि परिवार के लोगों,स्त्रियों और स्त्री अंकों वाले नेताओं के कारण प्रतिष्ठा ख़राब होने के प्रबल योग हैं |" 
              इस प्रकार आप देख सकते हैं कि मुलायम सिंह यादव के मामले में हमारी भविष्यवाणी एक बार फिर सही साबित हुई | इस वर्ष के अब तक के मात्र ३ महीनों में ऐसा २ बार हो चुका है | अभी भी इस भविष्यवाणी के कुछ अंश ऐसे हैं जो कि सही साबित होंगे | अच्छे या बुरे ? तो इस का जवाब तो यह है कि ज्योतिष कि दृष्टी में अच्छे-बुरे जैसी कोई बात नहीं होती | अच्छा-बुरा तो व्यक्ति कि दृष्टी से होता है | हाँ,मुलायम सिंह कि दृष्टी से देखा जाए तो इसी बह्विश्यवानी के अंत में हम ने लिखा है---"इन का अच्छा वक़्त अभी ख़ासा दूर है |"
              तो  मित्रो,आज तो बस इतना ही | परसों यानि शुक्रवार को हुम्म्हाज़िर होंगे दो खास आलेखों के साथ | एक तो वही---उस दिन रिलीज़ होने वाली फ़िल्मों से सम्बन्धित आलेख;मगर दूसरा बहुत ही ज़्यादा ख़ास आलेख,वही---जो हम ने आप से वादा कर रखा है--एक ऐसी विभूति के बारे में कि जिस ने करोड़ों लोगों की ज़िन्दगी ही बदल दी | तो इंतज़ार कीजिए परसों का | ......... अब आज के आनंद की जय | ............ जय श्री राम |