रविवार, 25 जनवरी 2015

झारखण्ड विधानसभा चुनाव 2014 : हमारी भविष्यवाणी अपूर्व रूप से सही साबित

जय श्री राम ............ आदरणीय मित्रो, पीछे एक समय से निरंतर कोई-न-कोई चुनाव होता आ रहा है| इस कारण ऐसी कई बातें हैं, जो कि आपके साथ करनी हैं, मगर चुनाव सम्बन्धी उन व्यस्तताओं के चलते नहीं कर पाये| आज ऐसी ही दो बातें कर लेते हैं| पहली बात है हाल ही में संपन्न झारखण्ड विधानसभा चुनाव के बारे में| कोई भविष्यवाणी करने के पीछे हमारा उद्देश्य यह नहीं होता कि मात्र भविष्यवाणी कर छोड़ दिया जाए,
अपितु हमारी सोच यह रहती है कि उस घटनाक्रम के उपरांत यह भी देखा जाए कि हमारी भविष्यवाणी कितनी सही ठहरी और कितनी नहीं? उस सही ठहरने या न ठहरने के कारणों का विश्लेषण किया जाए तथा प्राप्त निष्कर्षों को भविष्य में प्रयुक्त किया जाए| आप देखेंगे कि झारखण्ड व जम्मू-कश्मीर विधानसभा के हालिया चुनावों की भविष्यवाणी के लिए हमने एक नयी विधि ईजाद की| अब देखना यह है कि यह विधि भविष्य में कितनी खरी ठहरती है?
           हमारी 'कृपात्रयी' (प. पू. गुरुदेव देवरहा बाबा, माँ बगलामुखी व घोटेवाले) की कृपा से भविष्यवाणी 'सही ठहरने' के मामले में हमारा प्रतिशत सार्वजनिक मंच पर घोषित समकालीनों में सर्वाधिक है| यही बात झारखण्ड विधानसभा चुनाव के बारे में भी कही जा सकती है| दिनांक 10 दिसंबर, 2014 की अपनी ब्लॉग पोस्ट में हमने यह भविष्यवाणी की थी| इस राज्य के बारे में हम वर्ष 2005 के चुनावों से ही सही साबित होते आ रहे हैं| उसके बाद वर्ष 2009 के चुनाव; फिर शिबू सोरेन, अर्जुन मुंडा, हेमंत सोरेन सरकार के आने-जाने व राष्ट्रपति शासन की भी हमारी भविष्यवाणी सही साबित हुई|
# हमने कहा था:-"अब उतरती यह अंक 8 की दशा इस राज्य को एक बार फिर नयी सरकार व नया मुख्यमंत्री देने जा रही है|"
* हुआ यह:-झारखण्ड को नयी सरकार व नया मुख्यमंत्री मिल गया|
# हमने कहा था:-"चुनावी वर्षांक 7 स्त्री अंक है| इसकी प्रधानता झारखण्ड में इस बार भी गठबंधन की सरकार बनवाने जा रहा है| किसी एक दल की सरकार बन पाती नहीं दिख रही है|"
* हुआ यह:-भाजपा अकेले अपने दम पर सरकार नहीं बना पायी| उसने आजसू के साथ मिलकर सरकार बनायी|
# हमने कहा था:-"अतः इतना तो तय है कि इस बार झारखण्ड मुक्ति मोर्चा व हेमंत सोरेन की सरकार नहीं बनने जा रही है|"
* हुआ यह:-झारखण्ड मुक्ति मोर्चा व हेमनट सोरेन की सरकार नहीं बनी|
# हमने कहा था:-भाजपा व आजसू को 33 (कम-अधिक 6) यानि 39 तक सीटें मिल सकती है|"
* हुआ यह:-भाजपा व आजसू को 42 सीटें मिलीं|
# हमने कहा था:-झारखण्ड मुक्ति मोर्चा को 17 (कम-अधिक 3) यानि 20 तक सीटें मिल सकती हैं|"
* हुआ यह:-झारखण्ड मुक्ति मोर्चा को 19 सीटें मिलीं|
# हमने कहा था:-"झारखण्ड विकास मोर्चा (प्रजातान्त्रिक) को 09 सीटें (कम-अधिक 2) मिल सकती हैं|"
* हुआ यह:-झारखण्ड विकास मोर्चा (प्रजातान्त्रिक) को 08 सीटें मिलीं|
       यू पी ए की सीटों के मामले में हमने निवेदन किया था---"कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सुखदेव भगत, जद (यू) के प्रदेशाध्यक्ष जलेश्वर महतो व राजद के प्रदेशाध्यक्ष गिरिनाथ सिंह का पूर्ण जन्म-विवरण उपलब्ध नहीं है| अतः यू पी ए की सीटों के मामले में कुछ और अंतर आ सकता है|" हुआ भी यही|
              उक्त उल्लेख से आप यह भली-भाँति जान ही चुके हैं कि झारखण्ड के उक्त सन्दर्भ में हमारी भविष्यवाणी किस हद्द तक सही साबित हुई है|
              अगली पोस्ट में जम्मू और कश्मीर विधानसभा चुनाव के सम्बन्ध में की गयी भविष्यवाणी की बात लेकर उपस्थित होंगे| तब तक के लिए आज्ञा दीजिए| ........... जय श्री राम|