गुरुवार, 2 सितंबर 2010

' MALLIKA ',' EMOTIONAL ATYACHAR ' और ' WE ARE FAMILY ' की रिलीज

 जय श्री राम ........... | आदरणीय मित्रो,सब से पहले तो आप से इस बात के लिए क्षमा चाहेंगे कि पिछले सप्ताह रिलीज फ़िल्मों की आप से चर्चा नहीं कर पाये | आइन्दा ऐसा अंतराल ना आये,इस की भरपूर कोशिश करेंगे |  आज रिलीज हुई और होने वाली फ़िल्मों की चर्चा से पहले दो ख़ास बातें करेंगे | पहली बात तो यह है कि हम ने अपना एक साहित्यिक ब्लॉग शुरू किया है | इस का पता है---http://kumarganeshekighazalen-nazmen.blogspot.com | इस के नाम के मुताबिक़ ही इस में आप को हमारी कही ग़ज़लें और नज़्में पढ़ने को मिलेंगी | ज़्यादातर रचनाएँ तो हिन्दुस्तानी (आप चाहें तो उर्दू मिली हिंदी या हिंदी मिली उर्दू भी कह सकते हैं ) में ही होंगी,मगर कभी-कभी हिंदी और राजस्थानी की रचनाएँ भी मिल जाएँगी | यहाँ लगते हाथों थोड़ी-सी चर्चा हमारे साहित्यिक स्वरुप की उन मित्रों के लिए कर ली जाए,जो कि इस बारे में नहीं जानते हैं | ... यह कह पाना तो बहुत कठिन है कि किसी ने काव्य-रचना कब आरम्भ की ? यह ठीक वैसी ही बात है कि जैसे कोई यह कहे कि उसे इतने बजे नींद आयी | अगर उसे नींद आ गयी तो उस ने घड़ी कब देखी,और घड़ी देख रहा था तो भला नींद में कैसे था ? ... काव्य तो ईश्वर की कृपा से सुपात्र पर बरसता ( नाजिल होता) है | हाँ,हम यह कह सकते हैं कि हम ने उस काव्य को काग़ज़ पर कब से सहेजना शुरू किया | ... तो म ने हिंदी में इस काव्य को वर्ष 1984 की वसंत पंचमी से,उर्दू में वर्ष 1989 से और राजस्थानी में वर्ष 1992 से काग़ज़ों में सहेजना शुरू किया | तब से हमारी काव्य-रचनाएँ कई पत्र-पत्रिकाओं, आकाशवाणी, कवि-सम्मेलनों, कवि-गोष्ठियों और मुशायरों के माध्यम से लोगों तक पहुँचती रही हैं | ... तो आप हमारे इस साहित्यिक ब्लॉग http://kumarganeshekighazalen-nazmen.blogspot.com  को अपना वैसे ही आशीर्वाद प्रदान करने पधारिए,जैसे इस ज्योतिषीय ब्लॉग को प्रदान कर रहे हैं | 
               यह तो थी आज की पहली ख़ास बात | अब करते हैं आज की दूसरी ख़ास बात | हमारे ' wordpress ' वाले ब्लॉग पर 'लफंगे परिंदे' फ़िल्म की पोस्ट में हम ने उस से भी पिछले सप्ताह रिलीज फ़िल्म 'HELP' के सन्दर्भ में लिखा था---" पिछले सप्ताह ‘पीपली लाइव’ के साथ ही रिलीज हुई थी बोबी देओल और प्रियंका चोपड़ा की फ़िल्म -’HELP’ | हम समयाभाव के कारण यहाँ उस की चर्चा नहीं कर पाये,हालांकि यह फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर ‘HELPLESS’ पड़ी ‘HELP-HELP’ चिल्ला रही है | जब-जब प्रियंका और बोबी जैसी तथा अभिनय का ‘अ’ भी न जानने वाली छद्म प्रतिभाओं को बेकार के भाव दे कर सिर पर चढ़ाया जाएगा,तो फ़िल्मों का यही हश्र होगा | " इसी सन्दर्भ में हमारे एक सुधी पाठक SHASHI ARYA ने लिखा है---" Help में प्रियंका चोपड़ा नहीं है बल्कि मुग्धा गोडसे है। बाबी देयोल जरुर कमजोर अभिनेता हैं परन्तु प्रियंका चोपड़ा को ऐसा लिखना कि उन्हे अभिनय की ए बी सी डी नहीं आती उचित नहीं होगा। शायद समयाभाव के कारण आप फिल्में नहीं देख पाते हैं अतः आप ऐसी टिप्पणी कर गये जिसका आधार बहुत कमजोर है। आशा है आप टिप्पणी को सही परिपेक्ष्य में लेंगे। " इस बारे में हम यह कहना चाहेंगे कि यह बात बिलकुल सही है कि 'HELP' फ़िल्म की नायिका प्रियंका चोपड़ा नहीं,बल्कि मुग्धा गोडसे हैं | इस सम्बन्ध में हम से प्रियंका चोपड़ा लिखा जाना 'स्लिप ऑफ़ पेन' मात्र ही है | आप इसी सन्दर्भ में ले कर हमारी यह त्रुटि क्षमा कर दीजिए | रही बात हमारे फ़िल्म देख पाने या ना देख पाने की बात,तो हम बहुत ही विनम्र-भाव से यह उल्लेखित करना चाहेंगे कि अभी ज्योतिषीय विषयों से सम्बन्धित व्यस्तताओं के बहुत ज़्यादा बढ़ने से ठीक पहले तक हम फ़िल्मों पर आलेख और स्तम्भ लिखा करते थे | इस बात को थोडा ही समय बीता है,सदियाँ नहीं | फ़िल्मों के बारे में हमारी समझ और राय को तब भी बहुत अहमियत मिलती थी और अब भी मिलती है | हम आकाशवाणी बीकानेर के अपने कार्यक्रम-प्रस्तोता के काल में फ़िल्म संगीत के एनसाइक्लोपीडिया माने जाते थे | हमारे कई उद्घोषक और एंकर बन्धु अक्सर फ़िल्मों के मामले हम से जानकारी लेते रहते थे | अभी भी इस स्थिति में कोई ख़ास अंतर नहीं आया है | इस लिए SHASHI  आप का यह कहना सही नहीं है कि हम समयाभाव के कारण फ़िल्में नहीं देख पाते और उसी झौंक में प्रियंका चोपड़ा के बारे में कच्ची टिप्पणी कर गये | ऐसा नहीं है दोस्त | हम ने ऐसा अपनी पूरी जानकारी से किया है और हम इस पर पूरी तरह क़ायम हैं | प्रियंका चोपड़ा 'प्रायोजित प्रतिभा' है,जिसे हम अपनी उस पोस्ट में 'छद्म प्रतिभा' कहा था | अपने होंठों में फुलावट वाले इंजेक्शन लगवा कर प्रचार व प्रायोजित प्रशंसा के बल पर फ़िल्में पा लेना ही प्रियंका का अब तक का सफ़र है | ज़रा यह तो बताइए कि प्रियंका ने अपनी 'तथाकथित अभिनय प्रतिभा' के बल पर कौनसी फ़िल्म सफल बनायी है ? रहा सवाल मुग्धा गोडसे जैसी 'तथाकथित प्रतिभाओं' का,तो हमारे मेहरबानो,एक बात भली भाँति समझ लीजिए कि 'कास्टिंग काउच परीक्षा' उत्तीर्ण कर लेना नायिका बनने के लिए पर्याप्त पात्रता है | हिंदी फ़िल्म उद्योग का दुर्भाग्य जब-जब प्रबल होता है,तब-तब मुग्धा गोडसे जैसी 'सूगली' लड़कियाँ भी नायिका बन जाती हैं | आप इस 'सूगली' शब्द का अर्थ राजस्थानी भाषा जानने वाले अपने किसी परिचित से पूछ लीजिएगा | हम यहाँ जान-बूझ कर नहीं लिख रहे हैं | और जहाँ तक रही बात SHASHI  का यह कहना कि हम उन की टिप्पणी को सही परिप्रेक्ष्य में लेंगे;तो हम यही कहना चाहेंगे कि आप अपनी बात यहाँ अवश्य कहिए, भले ही चाहे वह बात हमारे विचारो से मिले-ना मिले, चाहे वह हमें सुहाये-ना सुहाये | हम ने यहाँ 'टिप्पणी-समीक्षक' तो मात्र अभद्र भाषा की गन्दगी से बचने के लिए लगाया है,आप की बात पर रोक लगने के लिए नहीं | आप की राय और विचारों का सदा हार्दिक स्वागत है | आप अगर किसी विषय विशेष पर हमारे विचार जानने चाहें तो वह भी हमें लिखिए | हम अपनी सीमाओं में आप की मांग पूरी करने की  भरपूर कोशिश करेंगे |
तो मित्रो,ये तो थीं आज की सब से पहले की दो ख़ास बातें | आप भी सोच रहे होंगे कि रिलीज फ़िल्मों कि चर्चा से पहले यह तो बहुत ही लम्बी बात हो गयी,मगर ये आपस की बातें भी तो बहुत ज़रूरी हैं | इन्हीं से तो आप के साथ जीवंत जुडाव रहता है | हम इकतरफ़ा  ढंग से अपनी बात कह कर निकल जाने के सख्त ख़िलाफ़ हैं | 
आज रिलीज फ़िल्मों की बात हमें दोहरे रूप में करनी पड़ेगी | एक फ़िल्म परंपरा तोड़ कर आज ही यानि गुरुवार को रिलीज कर दी गयी है,जब कि दो फ़िल्में कल रिलीज होने जा रही है | इस करण हम रिलीज के अंकीय समीकरणों की बात एक साथ ना कर,उस फ़िल्म के साथ अलग-अलग करेंगे |
WE ARE FAMILY      
     'यशराज फ़िल्म्स' का बैनर ही अपने-आप में बहुत बड़ा है,और फिर ऐसे में फ़िल्म में काजोल देवगन व करीना कपूर का होना उसे और भी बड़ा बना देता है | यह फ़िल्म शुक्रवार को रिलीज किये जाने की परंपरा तोड़ कर आज ही रिलीज कर दी गयी है | आज का मूलांक २ व भाग्यांक ५ है | चलितांक है-५ (धनात्मक) | आज के मूलांक-भाग्यांक की युति मानसिक अस्थिरता,स्त्रीगत अस्थिरता,साझेदारी में किये काम में झटका आदि बताती है | आज अंक १, ३ व ९ ठीक-ठीक शुभ हैं | इस फ़िल्म का अंक बनता है-१ | इस का वृहदंक है-३७ | पारस्परिक विरोधी अंकों की उपस्थिति के कारण यह वृहदंक अशुभ है | इस मूलांक समीकरण २-८-९ है,जो कि बराबर शुभाशुभ है | फ़िल्म की एक निर्माता हीरू यश जौहर का अंक है-३ | इस का वृहदंक है-४८,जो कि अशुभ है | इस का मूलांक समीकरण ४-१-७ है | यहाँ स्त्री अंक के साथ पितृ दोष वाले अंकों की उपस्थिति है | इस का मतलब यह है कि अगर कोई स्त्री पितृ भूमिका में है तो झटका लगेगा | निर्माता होने के नाते हीरू जी इसी भूमिका में हैं,इस लिए यह बात फ़िल्म के सफल होने के ख़िलाफ़ जाती है | दूसरे निर्माता करण जौहर का नामांक है-९ | इस का वृहदंक है-२७,जो कि आज शुभ है | इस का मूलांक समीकरण २-७ है | यह भी शुभ है | करण का जन्म का मूलांक-७ व भाग्यांक ४ है | हम यहाँ पहले ही यह निवेदन कर चुके हैं कि स्त्री पितृ दोष के कारण कारण को अपनी माताजी के साथ फ़िल्म प्रोड्यूस करने से बचना चाहिए | अभी करण  को ३९ वाँ वर्ष चल रहा है,जो कि चलित वर्ष का ही अंक रखता है तथा यह अंक करण के अंकों के विरुद्ध है | अतः वर्ष २०१० में (विशेषकर २५ मई के बाद) तो इन की बनायी फ़िल्म को सफलता मिलती दिख नहीं रही है | फ़िल्म के निर्देशक सिद्धार्थ पी. मल्होत्रा का अंक है-१ | इस का वृहदंक है-६४,जो की शुक्र भंग बताता है | इस का सीधा-सा प्रभाव फ़िल्म के बॉक्स ऑफिस प्रभाव पर पड़ता है | इस का मूलांक समीकरण २-८-९ है | यहाँ स्त्रीगत उठा-पटक व मानसिक विचलन आ रहा है | सारी फ़िल्म ही स्त्री प्रधान है,इस लिए यह समीकरण फ़िल्म के ख़िलाफ़ जाता है | वैसे तो फ़िल्म का भाग्य इन बातों से सामने आ गया है,मगर क्यों ना यह बात समेटने से पहले फ़िल्म की नायिकाओं के अंकों की भी बात कर ली जाए | काजोल देवगन का नामांक है-2,जो कि आज पक्ष का है | इस का वृहदंक है-३८,जो कि ग़लत फैसला बताता है | हो सकता है कि काजोल को भविष्य में यह फ़िल्म करने का पछतावा हो | इस का मूलांक समीकरण ५-६ है | यहाँ अंक २,५ व ६ का त्रिकोण डावाँडोल की स्थिति के साथ भावनात्मक संतुलन बनाना यानि कि किसी की भावनाओं का सम्मान करना बताता है | बहुत संभव है कि काजोल ने यह फ़िल्म सिर्फ़ करण जौहर की भावनाओं का सम्मान करने मात्र के लिए ही कर ली है | ०५-०८-१९७५ को जन्मीं काजोल के जन्म का मूलांक-५ व भाग्यांक-८ है | यहाँ मूलांक काम-चलाऊ पक्ष में तो भाग्यांक जबरदस्त विरुद्ध है | काजोल का अभी आयु अंक ९ (३६ वाँ वर्ष) है | फ़िल्म की दूसरी नायिका करीना कपूर का नामांक है-३ | इस वृहदंक है-४८,जो की अशुभ है | इस का मूलांक समीकरण ३-९ है | २१-०९-१९८० को जन्मीं करीना का जन्म का मूलांक-भाग्यांक ३ है | इन का आयु अंक ३ (३० वाँ वर्ष) है | यहाँ भी अंक ३ है,जिस की बात हम कर चुके हैं | अतः इस फ़िल्म को कोई अच्छी सफलता मिलती नहीं दिख रही है | अच्छी सफलता तो छोडिए,इसे तो साधारण सफलता भी मिल जाए तो बड़ी बात होगी | 
MALLIKA      
    इस का अंक बनता है-६,जो कि रिलीज डेट का भाग्यांक तथा मूलांक का मित्र है | इस लिए शुभ है | इस का वृहदंक है-१५ | यह भी समर्थक/मित्र अंकों कि उपस्थिति के कारण शुभ है | फ़िल्म के निर्माता का नाम हमें नहीं मिल पाया,इस लिए निर्देशक की ही बात करेंगे | निर्देशक विल्सन लुईस का अंक है-९,जो कि आज बहुत शुभ है | इस का वृहदंक है-४५ | अंक ४,५ व ९ का त्रिकोण उठा-पटक के बाद पितृ पुरुष को लाभ देता है,इस लिए यह वृहदंक शुभ है | इस मूलांक समीकरण ७-२ है,जो कि अशुभ है | अतः अधिकांश समीकरणों के पक्ष के होने के कारण यह फ़िल्म निर्माता को झटका नहीं देगी तथा अपनी लागत निकाल लेगी | 


EMOTIONAL ATYACHAR  
 इस का अंक है-१,जो कि रिलीज डेट के मोलांक का मित्र है तथा भाग्यांक के साथ भी सद्भाव रखता है | इस का वृहदंक है-५५,जो कि अपनी अस्थिरता के कारण अशुभ है | इस का मूलांक समीकरण १-९ | अंक ९ व अंक १ के दोहराव का त्रिकोण बहुत ही शुभ है | फ़िल्म के निर्माता विनय गुट्टे ही निर्देशक भी हैं | अतः इन के अंक दोहरे रूप में प्रभावी होंगे | इन का अंक है-९,जो कि बहुत ही शुभ है | इस का वृहदंक है-३६ | यह रिलीज के मूलांक-भाग्यांक कि युति होने के कारण भी बहुत शुभ है | इस का मूलांक समीकरण ५-४ है | इस के बारे में फ़िल्म 'MALLIKA' की चर्चा में हम बता चुके हैं | अतः यह विश्लेषण बताता है कि यह फ़िल्म भी अपनी लागत निकाल लेगी तथा निर्माता को रुलाएगी नहीं | 
निष्कर्ष 
(१)  WE ARE FAMILY   'यशराज फ़िल्म्स' को एक और झटका दे सकती है |
(२) इस फ़िल्म को साधारण सफलता भी मिल जाए तो बड़ी बात है | 
(३) छोटी फ़िल्में होने के बाद भी 'MALLIKA' और 'EMOTIONAL ATYACHAR' औसत सफलता पा कर अपनी लागत लेंगी |  
मित्रो, आज बस इतना ही | अब आज्ञा दीजिए | और हाँ,हमारे साहित्यिक ब्लॉग को अपना आशीर्वाद देना मत भूलिएगा | पता तो पता है ना ? लीजिए,फिर हाजिर है--http://kumarganeshekighazalen-nazmen.blospot.com | ......... आज के आनंद की जय | ............ जय श्री राम |