बुधवार, 14 जुलाई 2010

छोटे बच्चन:::ज्योतिषियों का उपहास करने की धृष्टता न कीजिए

                जय श्री राम ......... | आदरणीय मित्रो,आज अभी जो बात आप से करने आये हैं,यह करना तो 8 जुलाई को ही चाहते थे,मगर किसी-न-किसी व्यस्तता के चलते नहीं कर पाये | बात है ही कुछ ऐसी कि जो दिल पर चोट करे | यह चोट व्यक्तिगत रूप से हम पर नहीं है,बल्कि ज्योतिषी समाज पर है | हाल ही में संपन्न फीफा फुटबाल  कप के कुछ मैचों के बारे में ऑक्टोपस पॉल द्वारा की गयी भविष्यवाणियों के सन्दर्भ में अमिताभ बच्चन के सुपुत्र अभिषेक बच्चन ने सोशल साईट 'ट्विटर' पर जुलाई माह के दूसरे सप्ताह के शुरूआती दिनों में अपने एक ट्विट में    लिखा---"हमारे सारे महान ज्योतिषाचार्य,जो कि टीवी चैनलों के द्वारा हमारे ऊपर अपने ज्ञान की बमबारी करते रहते हैं,आप सब सावधान हो जाइए ! एक ऑक्टोपस ने आप की चमक फीकी कर दी है | हा-हा-हा... |" 
                 अभिषेक की इस भाषा में तीव्र उपहास ध्वनित हो रहा है | इसे तथाकथित 'सेन्स ऑफ़ ह्यूमर' कह कर अनदेखा नहीं किया जा सकता | अब ज़रा यह भी पूछ लिया जाए कि अभिषेक ज्योतिष के बारे में कितना जानते हैं ? जो ज्योतिष का सींग-पूंछ भी नहीं जानते,वे भी फटाक-से बक देते हैं | ज्योतिष व ज्योतिषियों पर किसी भी क़िस्म की ऊल-जलूल टिप्पणी कर देना आजकल फ़ैशन हो गया है | जिस किसी ऐरे-गैरे-नत्थू-खैरे को देखो,मुँह उठाये आ रहा है-ज्योतिष का मज़ाक उड़ाने | कुछ टीवी चैनलों ने तो अपने पट्ठों के रूप में तथाकथित तर्कशास्त्री बिठा रखे हैं,जिन्हें यह ज्योतिष के बारे में तनिक भी ज्ञान नहीं हैं | ये पट्ठे तो यह मान कर बैठते हैं कि इन्हें ज्योतिष को न तो समझना है और न ही सार्थक चर्चा करनी है | इन की भैंस तो सफ़ेद है | लोग यह नहीं जानते कि कितनी साधना करनी पड़ती है,तब जा कर सधती है ज्योतिष | बराबर स्वाध्यायरत रहना पड़ता है | 
               अभिषेक बच्चन का ज्योतिष व ज्योतिषियों का इस प्रकार उपहास करना तो इन के प्रति घोर कृतघ्नता है | वे भूल गये क्या कि ज्योतिषियों के बताये उपायों से ही उन का ऐश्वर्या से लगभग 'न' वाला विवाह हो पाया |  उन के चाचा अजिताभ बच्चन कितने ज्योतिषियों के पास उनकी व ऐश्वर्या की कुण्डलियाँ लिये फिरे थे ! पिता के पाये व साये से अब तक निकल नहीं पाये अभिषेक की यह ट्विटर-टिप्पणी उन की नादानी की ही परिचायक है | 'विषयोग' वाली ऐश्वर्या के साथ संबंधों में भविष्य में जब कष्ट व दु:ख आएँगे,तब अभिषेक को इन्हीं ज्योतिषियों की शरण में ही आना पडेगा | हम तो यही कहेंगे कि --- 'छोटे बच्चन',ज्योतिषियों का उपहास करने की धृष्टता न कीजिए |  
              मित्रो,अभिषेक बच्चन के बहाने हम अपना यह सन्देश उन सभी मूढ़मतियों को देना चाहते हैं जो कि ज्योतिष व ज्योतिषियों के प्रति पूर्वाग्रहग्रस्त हैं | प्रभु उन्हें सन्मति प्रदान करे | आज बस इतना ही | अब आज्ञा दीजिए | ...... आज के आनंद की जय | ........... जय श्री राम |