शुक्रवार, 19 फ़रवरी 2010

आज की रिलीज़ फ़िल्में:फ़्लॉप का चौका

 जय श्री राम ............ | मित्रो,कैसे हैं आप ? सानंद ? बस,ऐसे ही सदा सानंद रहिए | प्रभु से कभी माँगें भी तो सुख मत माँगिए,आनंद माँगिए;क्यों कि सुख के साथ तो दुःख लगा हुआ है | सुख आएगा तो दुःख भी आएगा | आनंद के साथ ऐसा नहीं है | वह बस,वह ही होता है,और कुछ नहीं | आप सदा ऐसा ही करेंगे न ? वादा ? 'TOH BAAT PAKKI' ? तो अब ऐसा कीजिए कि 'THANKS MAA' कहते हुए अभी-अभी के अपने इस 'AAKHARI DECISION' पर 'CLICK' कर दीजिए | हा-हा-हा........... | देखिए न,किस तरह एक ही लड़ी में आज रिलीज़ होने वाली चारों फ़िल्में आ गयीं |
आज के अंकीय समीकरण 
आज का मूलांक है-1 और भाग्यांक है-6 | अंक 1 निर्देशक,नायक,स्वामी का है | अंक 6 शुक्र का है,जो कि धन का कारक है | फ़िल्म के लिए इस का समीकरण पक्ष का होना बहुत ज़रूरी होता है | अभी चलित है अंक 8  ( सौम्य ) | यह अंक शनि का है | आज के मूलांक 1 के  साथ इस की 'द्रोहात्मक युति' बनती है | यह विपरीत अंकीय समीकरणों के साथ शुभ नहीं है | आज के भाग्यांक के साथ इस की युति शुक्र विखंडित करती है | यह विखंडन भी विपरीत अंकीय समीकरणों के साथ शुभ फलकारी नहीं है | दिन का अंक भी 6 है | अतः शुक्र की विखंडित अवस्था में वृद्धि हो गयी है |
TOH BAAT PAKKI
  इस फ़िल्म का अंक बनता है-2 | इस का वृहदंक है-38 | यह बना है 16-8-14 से | इस का अंकीय समीकरण बनता है 7-8-5 | यहाँ अंक 7 और 8 की युति इच्छा-पूर्ति में बाधा पैदा करती है | यह भावनाओं को ले कर समझौते की स्थिति सूचित करती है | अंक 5 संगत के अनुसार फल देता है | इस लिए इस के योग से उक्त फल में वृद्धि हो जाती है | यह समीकरण आज के मूलांक के साथ 'कर्णधार पर आघात' बताता है | फ़िल्म का अंक 2 नायिका और ट्रीटमेंट का है | यह आज के मूलांक और चलित के त्रिकोण में इन दोनों को कमज़ोर बनाता है | अतः यह फ़िल्म नायिका/ट्रीटमेंट को ले कर मात खा सकती है | फ़िल्म के निर्माता रमेश एस. तौरानी का अंक बनाता है-7 | इस के समीकरण-फलादेश भी कमोबेश अंक 2 की ही भाँति हैं | इस का वृहदंक है-43 | यहाँ 4 और 3 की युति दोषपूर्ण निर्णय बताती है | अतः तौरानी का यह फ़िल्म इस रूप में बनाने और रिलीज़ करने का निर्णय ग़लत सिद्ध हो सकता है | निर्देशक केदार शिंदे का अंक बनाता है-6 | यह आज का भाग्यांक है,जो कि विखंडित है | इस का वृहदंक है-42 | यहाँ 4 और 2 की युति 'ग्रहण-योग' बनाती है | यह फ़िल्म के लिए शुभ नहीं है | कुल मिला कर यह फ़िल्म टिकट-खिड़की पर निराश ही करेगी |
THANKS MAA
   यह एक लीक से हट कर बनी फ़िल्म बतायी जाती है | इस का अंक है-8 | इस का वृहदंक है-26 | 2-6-8 का त्रिकोण भावनाओं और धन के मोर्चे पर तगड़ा झटका बताता है | यह 26 बना है 20-6 से,जिस का फलादेश भी पहले वाला ही बनता है | इन्टरनेट पर बहुत तलाश करने पर भी हमें इस के निर्माता का नाम पता नहीं चला | इस लिए हम अब सीधे-सीधे बात करते हैं निर्देशक इरफ़ान कमल की | इन का अंक है-1 | इस का वृहदंक है-28 | 1-2-8की युति 'भावनात्मक द्रोहात्मक युति' बताती है | इस का तात्पर्य यह है कि जहाज़ के कप्तान को भावनात्मक झटका लग सकता है | अतः यह फ़िल्म भी निराश ही करेगी |
CLICK
इस फ़िल्म का नक् है-3,जो कि बना है 12 से | 1-2-3 का त्रिकोण कथात्मक गुन्थाव की अच्छी स्थिति बताता है | अतः यह हो सकता है कि इस फ़िल्म की कथा/मूल कथा-विचार पसंद आए | निर्देशक संगीत सीवन का अंक है-2 | इस का वृहदंक है-47 | 2-4-7 का त्रिकोण भावनात्मक आघात बताता है | यह बना भी 4-7 से है | इस फ़िल्म के निर्माताओं में सीवन के अलावा संजय अहलूवालिया और विनय चौकसे भी हैं | संजय का अंक बनता है-3,जो कि बना है 39 से | आज के अंकों के साथ ये समीकरण  पक्ष के बनते हैं | विनय का अंक है-1,जो कि बना है 46 से | 1-4-6  का त्रिकोण 'आर्थिक पितृदोष' बताता है | इस कारण फ़िल्म को आर्थिक झटका लग सकता है | अतः संजय अहलूवालिया के अंकों के कारण यह फ़िल्म कुछ पैसा भले ही कम ले,मगर कुल मिला कर इस के खाते में 'हिट' का नहीं,बल्कि 'पिट' का ख़िताब ही आना है |
AAKHARI DECISION 
  इस फ़िल्म का अंक है-6,जो कि आज का भाग्यांक है | यह तो अच्छा संकेत है,मगर इस पर तुरंत ही पानी फिर जाता है,क्यों कि यह अंक 6 बना है 42 से | 2-4-6 की युति की चर्चा हम फ़िल्म 'तो बात पक्की' में केदार शिंदे के लिए कर चुके हैं | निर्माता ए.सिंह का अंक बनता है-9 | यह आज के अंकों से दोस्ती रखता है,मगर यह बना है 1-8 से,जो की परस्पर 'द्रोहात्मक युति' बनाते हैं | निर्देशक दीपक बन्धु का अंक बनता है-3,जो कि बना है 48 से | 3-4-8 का त्रिकोण फ़िल्म के 'पितृपुरुषों' के लिए ग़लत निर्णय/विपक्ष में निर्णय सूचित करता है | अतः फ़िल्म,निर्माता और निर्देशक के मूल नामांक पक्ष में होने के कारण यह फ़िल्म कुछ कमाई कर सकती है,मगर ठप्पा तो फ़्लॉप का ही लगेगा,ऐसा लग रहा है |
                                 तो मित्रो,आज का दिन भी हिंदी फ़िल्म-उद्योग के लिए कोई अच्छा नहीं कहा जा सकता,क्यों कि फ़्लॉप फ़िल्मों का चौका जो लग रहा है | .... क्या कहा जा सकता है ? आइए,हम तो इस के लिए प्रभु से आनंद माँगें | ......... आज बस इतना ही | अब आज के आनंद की जय | ............ जय श्री राम |