शुक्रवार, 13 मई 2016

असम विधान सभा चुनाव : 'ऐतिहासिक परिवर्तन' की ओर

 जय श्री राम ............ आदरणीय मित्रो, अब बात करते हैं पूर्वोत्तर के सबसे महत्त्वपूर्ण राज्य असम की| यहाँ इस बार फिर तरुण गोगोई का जादू चलेगा या भाजपा का गठबंधन सत्ता पर कब्ज़ा जमाने में कामयाब हो पाएगा?
निर्माण=15-08-1947
मूलांक:-6   भाग्यांक:-8     आयु-अंक:-6 (69 वाँ वर्ष)   नामांक:-1     दिन-अंक:-6
विधान सभा अंक:-5 (14 वीं)
मतगणना : 19-05-2016     गुरुवार
मूलांक:-1     भाग्यांक:-6      दिन-अंक:-3      चलित अंक:-6     वर्षांक:-9 
          असम राज्य के निर्माण का मूलांक 6+दिन-अंक 6+ असम का आयु-अंक 6 मतगणना के मूलांक 1 के साथ विरोधी युति बनाता है| यह युति से नेतृत्व के विरुद्ध जाती है| यह बात गोगोई के लिए बुरी है| यह अंक 6 मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है| अंक 3 निर्णय का है| यही अंक 6 चुनावी वर्षांक 9 के साथ भी अंक 1 ही की भाँति विरोधी युति बनाता है| अंक 9 चुनावी लड़ाई में विजय का है| यह युति चुनावी लड़ाई में विपरीतता बताती है| असम राज्य के निर्माण का भाग्यांक 8 मतगणना के मूलांक 1 के साथ पितृद्रोह युति बनाता है| यह नेतृत्व के विरुद्ध जाती है| यह अंक 8 मतगणना के दिन-अंक 3 व चुनावी वर्षांक के साथ मित्रा युति में है| अंक 9 के साथ इसकी युति उठापटकभरी है और अंक 3 के साथ निर्णय की| इसका फल यह है कि इस बार की चुनावी लड़ाई का परिणाम वर्तमान नेतृत्व यानि तरुण गोगोई के लिए तसल्ली देने वाला हो सकता है| इसका अर्थ यह है कि चुनाव-परिणाम उनके लिए अत्यंत अपमान वाले न होकर कुछ राहत भरे हो सकते हैं; जैसे कि गोगोई को ही कॉंग्रेस विधान दल का नेता चुन लिया जाए| असम का नामांक 3 मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रतिरूप युति व मतगणना के भाग्यांक 6+मतगणना के चलित अंक 6 के साथ मित्र युति बनाता है| यह भी गोगोई के लिए राहतभरी हो सकती है| विधान सभा अंक 5 अंक 1 के साथ मित्र युति मे है| यह बात भी गोगोई के लिए सुकून वाली है| विधान सभा अंक 5 मतगणना के दिन-अंक 3+चुनावी वर्ष के अंक 9 के प्रबल विरुद्ध है| पिछली बार वर्ष 2001 में जब सरकार बदली थी तो असम का आयु-अंक 9 व चुनावी वर्षांक 3 आपस में प्रबल मित्र थे| इस बार असम का आयु-अंक 6 व चुनावी वर्षांक 9 मे परस्पर प्रबल विरोधी युति बन रही है| उक्त सभी युतियों का समवेत फल यह है कि इस बार की चुनावी लड़ाई में निर्णय वर्तमान के काँग्रेसनीत तरुण गोगोई नेतृत्व के विरुद्ध जाता दिख रहा है| इन्हें पदत्याग करना पड़ेगा|   
 तरुण गोगोई : 11-10-1934   गुरुवार        
मूलांक:-2     भाग्यांक:-2      आयु-अंक:-1 (82 वाँ)      नामांक:-3      दिन-अंक:-3 
        अब चर्चा कर लेते हैं वर्तमान मुख्यमन्त्री तरुण गोगोई की| इनके पुनः पद-प्राप्ति का योग है क्या? व्यक्तिगत रूप में नहीं तो क्या दलगत रूप में सत्ता-प्राप्ति योग है? गोगोई का मूलांक 2+भाग्यांक 2 मतगणना के मूलांक 1 व असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रबल मित्र-युति बनाता है| ये बताती हैं कि दल या पार्टी के स्तर पर निर्णय इनके पक्ष में रह सकता है यानि ये चुनाव के बाद दल के विधान मण्डल मुखिया बनाए जा सकते हैं| इनका आयु-अंक 1 असम के भाग्यांक 8 के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है| अतः ये इस बार असम के भाग्य में नेतृत्वकारी भूमिका नहीं निभा पाएँगे| यह अंक 1 विधान सभा अंक 5 के साथ प्रबल मित्र युति बनाता है| इस कारण ये इस विधान सभा में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएँगे| इनका नामांक 3+दिन-अंक 3 असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रतिरूप युति तथा असम के मूलांक 6+असम के आयु-अंक 6+मतगणना के भाग्यांक 6+असम के दिन-अंक 6+मतगणना के चलित अंक 6+असम के भाग्यांक 8+विधान सभा अंक 5 के साथ मित्र युति बनाता है| ये युतियाँ यह बताती हैं कि इस बार की विधान सभा मे गोगोई की स्थिति बुरी नहीं रहेगी| इन्हें मंत्री जैसा दर्जा/पद मिल सकता है| विषाण सभा का नेता न बन पाने के बाद भी ये बहुत महत्त्वपूर्ण पद पर रहेंगे; न सिर्फ़ विधान सभा मे, बल्कि पार्टी में भी| गोगोई ने पिछली बार मुख्यमन्त्री पद की शपथ 18-05-2011 को ली थी| तब आयु-अंक 5 (77 वाँ वर्ष) था| इसका मूलांक 9 पितृ द्रोह तथा भाग्यांक का वृहद अंक 9 दो परस्पर विरोधी स्त्री अंकों (2, 7) की युति में है| पितृ द्रोह की यह युति इनके लिए 'मुखिया पद' पाने मे बाधक है, वहीं अंक 2 व अंक 7 की पारस्परिक युति पार्टी और गठबंधन के कमजोर या सत्ता-प्राप्ति में पर्याप्त रूप से शक्तिसंपन्न न बन पाना बताती है| यह अंक 9 असम के मूलांक 6+असम के आयु-अंक 6+मतगणना के भाग्यांक 6+असम के दिन-अंक 6+मतगणना के चलित अंक 6+विधान सभा अंक 5 के साथ विरोधी युति बनाता है| ये युतियाँ चुनावी लड़ाई में पुनः सत्तासीन होने मे प्रबल बाधक हैं| असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रबल मित्र युति व चुनावी वर्षांक 9 के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| ये युतियाँ यह बताती हैं कि मतगणना का परिणाम गोगोई के लिए बहुत कुछ अच्छा भी ला रहा है| यह परिणाम इनके लिए प्रतिष्ठादायी अवश्य रहेंगे| इसलिए यह संभव है कि इन्हें काँग्रेस विधान दल का मुखिया चुन लिया जाए और नेता प्रतिपक्ष के रूप मे इन्हें कैबिनेट मन्त्री की समस्त सुविधाएँ मिल जाएँ| 'मुख्यमन्त्री' के रूप में न सही, किन्तु इस रूप में इनका 'राजयोग' बना रह सकता है|
     
भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस : 02-01-1978    सोमवार  
मूलांक:-2      भाग्यांक:-1      आयु-अंक:-3 (39 वाँ)      नामांक:-3       दिन-अंक:-2, 7

सोनिया गांधी : 09-12-1946    सोमवार
मूलांक:-9    भाग्यांक:-5     आयु-अंक:-7 (70 वाँ)      नामांक:-9     दिन-अंक:-2, 7

अंजन दत्ता : 13-04-1952    रविवार  
मूलांक:-4    भाग्यांक-7    आयु-अंक:-2 (65 वाँ)   नामांक:-5    दिन-अंक:-1, 4       
           काँग्रेस का भाग्यांक 1+प्रदेशाध्यक्ष अंजन दत्ता का दिन-अंक 1 व अंजन दत्ता का मूलांक 4+दत्ता का दिन-अंक 4 असम के भाग्यांक 8 के साथ प्रबल पितृ द्रोह व पितृ दोष युति बनाता है| यह युति नेतृत्व के विरुद्ध जाती है| अंक 1 व अंक 4 की विधान सभा अंक 5 के साथ प्रबल मित्र युति बनती है, जो कि इस बार कि विधान सभा में इस पार्टी की अच्छी स्थिति बताती है| कॉंग्रेस का मूलांक 2+काँग्रेस का दिन-अंक 2+सोनिया का दिन-अंक 2+अंजन दत्ता का आयु-अंक 2 असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 व मतगणना के मूलांक 1 के साथ प्रबल मित्र युति बनाता है| यह युति गठबंधन की राजनीति से फ़ायदा व वर्तमान नेतृत्व यानि गोगोई का 'काँग्रेस विधान दल का नेता होना' बरक़रार रहना बताती है| काँग्रेस का आयु-अंक 3+काँग्रेस का नामांक 3 विधान सभा अंक 5 व असम के मूलांक 6+असम के आयु-अंक 6+मतगणना का भाग्यांक 6+असम के दिन-अंक 6+मतगणना के चलित अंक 6 के साथ मित्र युति बनाता है| ये युतियाँ बताती हैं कि काँग्रेस की स्थिति 'बहुत बुरी' नहीं रहेगी| सोनिया का भाग्यांक 5+दत्ता का नामांक 5 असम के भाग्यांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 व मतगणना के वर्षांक 9 के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है| यह चुनावी लड़ाई में निर्णयगत विपरीतता बताती है|

ऑल इण्डिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट : 02-02-2009      सोमवार
मूलांक:-2    भाग्यांक:-6     आयु-अंक:-8      नामांक:-5      दिन-अंक:-2, 7
 
बदरुद्दीन अजमल : 12-02-1950     रविवार
मूलांक:-3     भाग्यांक:-2    आयु-अंक:-4  (67 वाँ)      नामांक:-3     दिन-अंक:-1,4  
            अजमल का मूलांक 3+अजमल का नामांक 3 विधान सभा अंक 5 व असम के मूलांक 6+असम के आयु-अंक 6+मतगणना के भाग्यांक 6+असम के दिन-अंक+मतगणना के चलित अंक 6 के साथ मित्र युति व असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| ये युतियाँ बताती है कि फ्रंट की स्थिति इस बार अच्छी रहने वाली है| अजमल का आयु-अंक 4+अजमल का दिन-अंक 4 असम के भाग्यांक 8 के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है| अतः इस बार के चुनाव बाद यह फ्रंट असम के भाग्य में अहम भूमिका निभा नहीं पाएगा| फ्रंट का भाग्यांक 6 असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रबल विरोधी युति व मतगणना के चुनावी वर्षांक 9 के साथ विरोधी युति बनाता है| फ्रंट का नामांक 5 असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 व मतगणना के वर्षांक 9 के साथ प्रबल विरोधी बनाता है| ये युतियाँ बताती हैं कि इस बार की चुनावी लड़ाई में फ्रंट के पक्ष में निर्णय करती नहीं दिख रही है| फ्रंट का आयु-अंक 8 मतगणना के मूलांक 1 के साथ प्रबल विरोधी युति व विधान सभा अंक 5 के साथ विरोधी युति बनाता है| ये युतियाँ बताती हैं कि इस बार की विधान सभा में यह फ्रंट 'नेतृत्वकारी स्थिति' मे नहीं आ पाएगा यानि यह सत्ता में भागीदार नहीं हो पाएगा यानि इसका गठबंधन सत्ता नहीं पा सकेगा|

असम गण परिषद : 14-10-1985   सोमवार
मूलांक:-5       भाग्यांक:-5     आयु-अंक:-4 (31 वाँ)    नामांक:-5    दिन-अंक:-2, 7

अतुल बोरा : नामांक:-14+12=26=8
           असम गण परिषद का मूलांक 5+भाग्यांक 5+नामांक 5+चलित दशा अंक 5 असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है| यह युति निर्णयगत अस्थिरता बताती है| मतगणना के वर्षांक 9 के साथ यह अंक 5 प्रबल विरोधी युति बनाता है| मतगणना के मूलांक 1 के साथ यह अंक 5 मित्र युति बनाता है| विधान सभा अंक 5 के साथ यह प्रतिरूप युति बनाता है| यह अगप के लिए शुभ है| अगप का आयु-अंक 4 विधान सभा अंक 5 के साथ प्रबल मित्र युति बनाता है| अतः इस बार कि विधान सभा मे अगप अच्छी स्थिति में रहेगी| असम के भाग्यांक 8 के साथ इस अंक 4 की प्रबल विरोधी युति के कारण इस बार यह पार्टी असम के भाग्य में बहुत बड़ी भूमिका में नहीं होगी यानि सरकार की मुखिया नहीं हो पाएगी| इस पार्टी की स्थापना के दिन-अंक 2 व 7 असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रबल मित्र युति बनाता है| यह युति गठबंधन में अनुकूलता बताती है| अतः इस बार का गठबंधन का निर्णय इस दल के लिए सही सिद्ध होगा| इस कारण मतगणना के दिन परिणाम इस पार्टी के लिए सुखद होगा| इस पार्टी के हालिया मुखिया अतुल बोरा का जन्म-विवरण हमें उपलब्ध नहीं हो पाया| इस कारण हमने मात्र उनका नामांक ही काम लिया है| यह अंक 8 मतगणना के मूलांक 1 के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है, जो कि नेतृत्व के विरुद्ध जाती है| विधान सभा अंक 5 के साथ भी यह विरोधी युति बनाता है| यह युति अस्थिरता बताती है| अतः इस बार विधान सभा मे अगप बहुत अधिक सुखद अवस्था मे नहीं दिख रही है| इसके जीते कुछ लोग बाद में भाजपा या किसी अन्य दल मे शामिल हो सकते हैं| बोरा का यह नामांक 8 असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ मित्र युति बनाता है| अंक 3 निर्णय का है| अतः इस बार की चुनावी लड़ाई का निर्णय अगप के पक्ष मे जा सकता है| अतः कुल मिला कर यह कहा जा सकता है कि इस बार असम गण परिषद के लिए चुनाव-परिणाम अनुकूल रहने जा रहे हैं| यह पार्टी पिछली बार की तुलना मे अच्छी संख्या में सीटें प्रपट कर सकती है| यह सत्ता में भागीदारी भी कर सकती है, मगर सत्ता की मुखिया नहीं बन पाएगी यानि इस बार इस पार्टी का मुख्यमन्त्री नहीं बन पाएगा|

भारतीय जनता पार्टी : 06-04-1980 रविवार
मूलांक:-6    भाग्यांक:-1     आयु-अंक:-1 (37 वाँ)   नामांक:-2      दिन-अंक:-1, 4

अमित शाह : 22-10-1964  गुरुवार  
मूलांक:-4      भाग्यांक:-7      आयु-अंक:-7 (52 वाँ)      नामांक:-6     दिन-अंक:-3

सर्वानन्द सोनोवाल : 31-10-1962    बुधवार  
मूलांक:-4       भाग्यांक:-5        आयु-अंक:-9 (54 वाँ)    नामांक:-3    दिन-अंक:-5

           भाजपा का भाग्यांक 1+भाजपा का आयु-अंक 1+भाजपा की स्थापना का दिन-अंक 1 व अमित शाह का मूलांक 4+सोनोवल का मूलांक 4+ भाजपा का दिन-अंक 4 असम के भाग्यांक 8 के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है| यह नेतृत्व के विरुद्ध जाती है| इस अंक 1 व अंक 4 की विधान सभा अंक 5 के साथ प्रबल मित्र युति बनती है| अंक 1 मतगणना के मूलांक 1 के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| इन द्विगुणित तीनों युतियों का फलित यह है कि इस बार की विधान सभा में भाजपा अभी की तुलना में बहुत अच्छी स्थिति रह सकती है| हाँ, यह हो सकता है कि वह पूर्ण नेतृत्व न ले पाये यानि कि उसे पूर्ण बहुमत न मिल पाये व अकेली अपने दम पर सरकार न बना पाए| अमित शाह का जन्म का दिन-अंक 3+सोनोवाल का नामांक 3 असम के मूलांक 6+असम के आयु-अंक 6+मतगणना के भाग्यांक 6+असम के निर्माण के दिन-अंक 6+मतगणना के चलित अंक 6+असम के भाग्यांक 8+विधान सभा अंक 5 के साथ मित्र युति व असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रतिरूप युति बनाता है| अंक 8 लोकतन्त्र व न्याय का है| अंक 3 निर्णय का है| अतः ये युतियाँ बताती हैं कि इस बार मतगणना का परिणाम भाजपाई खेमे के पक्ष में जा सकता है| सोनोवाल का भाग्यांक 5+सोनोवल का दिन-अंक 5 व भाजपा का मूलांक 6+अमित शाह का नामांक 6 की मतगणना के दिन-अंक 3+असम के नामांक 3+मतगणना के वर्षांक 9 के साथ प्रबल विरोधी युतियाँ भाजपाई खेमे के विजय रथ की पूर्णता में बाधक बन सकती हैं| अंक 5 की अंक 1 के साथ मित्र युति भाजपा के चुनावोपरान्त नेतृत्व करने को लेकर निश्चिन्त करती है| अमित शाह का भाग्यांक 7+अमित शाह का आयु-अंक 7 मतगणना के मूलांक 1+असम के नामांक 3+मतगणना के दिन-अंक 3 के साथ प्रबल मित्र युति बनाता है| अमित शाह के इन अंकों की अनुकूलता का लाभ निश्चित रूप से भाजपा के गठबंधन को मिलेगा और यह गठबंधन सबसे बड़ा समूह बन सकता है या सत्तासीन भी हो सकता है| अतः इन युतियों का विश्लेषण यह बताता है कि इस बार असम में भाजपाई गठबंधन बढ़त लेकर सरकार बना सकता है और भाजपा इस सूबे में सरकार न बना पाने का मलाल ख़त्म कर सकती है|
           विधान सभा चुनावों के इस क्रम की अंतिम कड़ी के रूप में अगली पोस्ट मे बात करेंगे केरल की| ............ जय श्री राम|