सोमवार, 13 अक्तूबर 2014

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव-2014 : भाग-1 : भाजपा सबसे बड़ा दल बन सकती है


जय श्री राम ............ आदरणीय मित्रो, प्रस्तुत है आपकी बहु प्रतीक्षित भविष्यवाणी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के बारे में| महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव सामने हैं| 15 तारीख़ को मतदान है और 19 को मतगणना है| इस बार के चुनाव एक ओर जहाँ भाजपा और शिवसेना के लिए पिछले 25 वर्षों में अनोखापन लिये हुए है; तो वहीं राकांपा व कांग्रेस के लिए भी पिछले 15 वर्षों का अनोखापन लिये हुए हैं| ये चारों दल आमने-सामने हैं| मनसे इस चुनावी लड़ाई को कई सीटों पर पञ्चकोणीय बना रही है| सब की निगाहें इस पर हैं कि इस बार क्या तस्वीर रह सकती है? वर्ष 2009 के विधानसभा के समय हमारी भविष्यवाणी सटीक रही थी| इस बार देखते हैं हमारे आकलन की दृष्टि से|
          मतगणना के समीकरण
 दिनांक:-19-10-2014 (रविवार)    मूलांक:-1      भाग्यांक:-9      दिन-अंक:-1, 4     चलित अंक:-6 (-) 
चुनावी वर्षांक:-7 (2014)                   
          महाराष्ट्र
 निर्माण-दिनांक:-01-05-1960     मूलांक:-1     भाग्यांक:-4      आयु-अंक:-1 (55 वाँ वर्ष)     नामांक:-2
    
  महाराष्ट्र के जन्मांकों में पितृ अंकों की प्रबल अवस्था है| इसी कारण इस राज्य पर उसी व्यक्ति ने अधिक/सफलतापूर्वक शासन किया है, जिसके पितृ अंक प्रबल रहे हैं| इन्हीं पितृ अंकों की प्रबल अवस्था के कारण ही वसंत राव नाइक ने एक नहीं, बल्कि तीन बार मुख्यमंत्री बनने के साथ ही दो कार्यकाल पूरे भी किये| इन्हीं अंकों की कुछ अच्छी अवस्था वसंत दादा पाटिल व शरद पवार के यहाँ थी, इस कारण ये दोनों तीन-तीन बार मुख्यमंत्री बने, किन्तु अपने अंकों की पितृ दोष की अवस्था के कारण एक बार भी कार्यकाल पूरा नहीं कर पाये| इनसे कुछ कम अवस्था विलासराव देशमुख के यहाँ थी, इसलिए वे दो बार मुख्यमंत्री बने, किन्तु इन्हीं दोनों की तरह अपने अंकों की पितृ दोष की अवस्था के कारण वे भी एक बार भी कार्यकाल पूरा नहीं कर पाये| भविष्य में भी महाराष्ट्र में वही व्यक्ति सत्ता पर लम्बे समय तक या सफलतापूर्वक काबिज़ रहेगा, जिसके पितृ अंकों की प्रबल अवस्था रहेगी|
        महाराष्ट्र को अभी 55 वाँ वर्ष चल रहा है| यहाँ अंक 5 की दोहरी युति अस्थिरता भाव लिये हुए है| चलित के अंक 6 (-) के साथ यह दोहरी समभाव युति बना रहा है| मतगणना का भाग्यांक 9 महाराष्ट्र के मूलांक 1 के साथ समभाव युति में है| यह अंक चुनावी विजय का है| इस राज्य का भाग्यांक 4 मतगणना के मूलांक 1 व एक दिन-अंक 1 के साथ पितृ दोष बना रहा है| ये युतियाँ पूर्ण बहुमत की अवस्था में बाधक हैं| इस कारण किसी एक दल को बहुमत नहीं मिलेगा| सरकार तो गठबंधन से ही बनेगी| इस कारण इस बार चुनाव के बाद सरकार बनाने के लिए फिर से वे दल फिर साथ आ जाएँ तो अचम्भा नहीं है कि जो चुनाव से पहले अलग हुए| हाँ, इन अंकों के साथ महाराष्ट्र के नामांक 2 व चुनावी वर्षांक 7 की पारस्परिक विरोधी युति के कारण इस बार 'मुखिया रूप' में परिवर्तन आ सकता है| तात्पर्य यह कि इस बार वे दल दौड़ में आगे रह सकते हैं, जो कि अब तक 'दूसरे नंबर' पर रहा करते थे या माने जा रहे थे|
         महाराष्ट्र को अभी अंक 8 की दशा चल रही है| यह वर्ष 2007 में आरम्भ हुई थी| यह दशा इस वर्ष के अंत तक चलेगी| इसने अपनी पहली अर्द्धली में वर्ष 2010 तक 3 मुख्यमंत्री दे दिये| अब यह उतरते-उतरते नया मुख्यमंत्री देगी| इस तरह यह आठ वर्ष की दशा चार मुख्यमंत्री दे देगी| महाराष्ट्र की यह 12 वीं विधानसभा है, जिसका मूलांक 3 बनता है| इस तरह इस बार महाराष्ट्र अपना ताज किसी नए व्यक्ति के सिर पर रखने रखने जा रहा है| इस बार नए दल के नेतृत्व में नयी सरकार बनने जा रही है|
          भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस         
 स्थापना-दिनांक:-02-01-1978      मूलांक:-2     भाग्यांक:-1      आयु-अंक:-1 (37 वाँ वर्ष)     नामांक:-3
      
  दलों के क्रम में सबसे पहले बात करते हैं पिछले 15 वर्षों से सरकार का नेतृत्व करने वाली कांग्रेस की| कांग्रेस का मूलांक 2 मतगणना के मूलांक 1 व राज्य के मूलांक 1 के साथ प्रबल मित्र युति बना रहा है| इसी प्रकार इस का नामांक 3 मतगणना के भाग्यांक 9 के साथ प्रबल मित्र युति बना रहा है| इसे राज्य के भाग्यांक 4 के साथ विश्लेषित करें तो परिणाम यह मिलता है कि ये चुनाव कांग्रेस को नवीन नेतृत्व देने की दिशा में बहुत महत्त्वपूर्ण सिद्ध होंगे| मतगणना के भाग्यांक 9 व चुनावी वर्षांक 7 के साथ इसका मूलांक 2 विरोधी युति बना रहा है| यह चुनावी लड़ाई में मनोकामना पूर्ति में बाधक है| इसकी स्थापना का चलित अंक 8 इसी के भाग्यांक 1, महाराष्ट्र के मूलांक 1 व मतगणना के मूलांक 1 के साथ पितृ द्रोह की अवस्था बना रहा है| यहाँ राज्य की चलित दशा का अंक 8 इस अवस्था को दृढ़ता दे रहा है| अंक 1 सत्ता का है| यह अवस्था सत्ता से दूर रखेगी| इसका पार्टी का भाग्यांक 1 मतगणना के एक दिन-अंक 4 व राज्य के भाग्यांक 4 के साथ पितृ दोष उत्पन्न कर रहा है| यह इसके लिए निराशाजनक सिद्ध हो सकता है| इस कारण इस बार कांग्रेस का प्रदर्शन बहुत बुरा रह सकता है| यहाँ तक कि अगर कांग्रेस चौथे स्थान पर भी रह जाए तो अचम्भा नहीं होना चाहिए|          
         राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी
स्थापना-दिनांक:-25-05-1999     मूलांक:-7      भाग्यांक:-4      आयु-अंक:-7 (16 वाँ वर्ष)     नामांक:-1   
     
  अब बात करते हैं पिछले 15 वर्षों से कांग्रेस के साथ सत्ता-सुख भोगने वाली राकांपा की| इसका मूलांक 7 व आयु-अंक 7 मतगणना के भाग्यांक 9 के साथ विरोधी युति बना रहा है| यह चुनावी लड़ाई में मनोकामना-पूर्ति में बाधक है| इसका भाग्यांक 4 चुनाव के चलित अंक 6 के साथ भी विरोधी युति बना रहा है| यह भाग्यांक 4 मतगणना के मूलांक 1 के साथ पितृ दोष उत्पन्न कर रहा है| इसके मूलांक-भाग्यांक में भी पितृ दोष की अवस्था है| इसका नामांक 1 महाराष्ट्र की चलित दशा के अंक 8 के साथ पितृ द्रोह की अवस्था बना रहा है| इसका भाग्यांक 4 इसी अंक 8 के साथ विखंडन युति बना रहा है| इस कारण इस बार यह पार्टी सरकार में नहीं आ पाएगी| पितृ द्रोह व पितृ दोष की इन अवस्थाओं के कारण इस पार्टी में टूट भी हो जाए तो अचम्भा नहीं होना चाहिए| इसका मूलांक 7 व आयु-अंक 7 चुनावी वर्षांक 7 के साथ प्रतिरूप युति व मतगणना के मूलांक 1, महाराष्ट्र के मूलांक 1 व मतगणना के एक दिन-अंक 1 के साथ प्रबल मित्र युति बना रहा है| इस कारण यह पार्टी सत्ता से भले ही बाहर हो जाए, मगर इसका प्रदर्शन कोई गया-गुज़रा नहीं रहेगा| यह कांग्रेस से ऊपर रह सकती है|       
          भारतीय जनता पार्टी
स्थापना-दिनांक:-06-04-1980     मूलांक:-6     भाग्यांक:-1      आयु-अंक:-8 (35 वाँ वर्ष)     नामांक:-2
     
पिछले 15 वर्षों से सत्ता में वापसी करने के लिए छटपटा रही भाजपा के अंक क्या कह रहे हैं, यह जानना बहुत रोचक रहेगा| आइए, देखते हैं इनका भी विश्लेषण|
       भाजपा का मूलांक 6 मतगणना के चलित अंक 6 के साथ प्रतिरूप युति बना रहा है| यह शुभ है| यह अंक 6 मतगणना के मूलांक 1, राज्य के मूलांक 1, राज्य के भाग्यांक 4, मतगणना के दोनों दिन-अंकों 1-4 व मतगणना के भाग्यांक 9 के साथ विरोधी युति बना रहा है| इस पार्टी का आयु-अंक 8 मतगणना के मूलांक 1, राज्य के मूलांक 1, मतगणना के एक दिन-अंकों 1 के साथ पितृ द्रोह युति व राज्य के भाग्यांक 4 व मतगणना के एक दिन-अंक 4 के साथ विखंडन युति बना रहा है| यह पूर्णता से सत्ता-प्राप्ति में बाधक है| अंक 1 सत्ता/सरकार का है| अंक 6 की इसके साथ की अवस्था सुख-भंग कर रही है| अंक 6 के साथ अंक 9 की अवस्था चुनावी लड़ाई में सुख-भंग बताती है| अंक 4, अंक 1 व अंक 9 की अवस्था बताती है कि इस बार सरकार में भाजपा की पितृ अवस्था रह सकती है| तात्पर्य यह है कि इस बार सत्ता का मुखिया भाजपा बन सकती है| हाँ, यहाँ यह बात ध्यान में रखनी होगी कि भाजपा को अकेले पूर्ण बहुमत नहीं मिल पाएगा| इसे गठबंधन की सरकार बनानी पड़ेगी| अब यह गठबंधन किसके साथ बनेगा, यह निर्भर करता है अन्य दलों के अंकों पर| वैसे अगर शिवसेना के साथ फिर से गठबंधन बन जाए तो अचम्भा नहीं होना चाहिए|   
                                   शिव सेना
स्थापना:-19-06-1966     मूलांक:-1      भाग्यांक:-2     आयु-अंक:-4 (49 वाँ वर्ष)       नामांक:-2    
     
शिव सेना के संस्थापक बाल ठाकरे के देहांत के बाद यह पहला चुनाव है| इसलिए शिव सेना के प्रदर्शन पर सबकी निगाहें जमनी स्वाभाविक भी हैं|  इसका भाग्यांक 2 व नामांक 2 चुनावी वर्षांक 7 के साथ विरोधी युति बना रहा है| इसी तरह मतगणना के भाग्यांक 9 व इस दल के भाग्यांक 2 व नामांक 2 में भी विरोधी युति है| इसका आयु-अंक 4 व राज्य का भाग्यांक 4 अपने मूलांक 1, मतगणना के मूलांक 1 व राज्य
के मूलांक 1 के साथ पितृ दोष उत्पन्न कर रहा है| इस कारण शिव सेना इस बार 'पितृ पुरुष' यानि 'बड़े भाई' की भूमिका में नहीं रह पाएगी| यही अंक 4 चुनावी चलित अंक 6 के साथ सुख-भंग युति बना रहा है| इस कारण यह दल इस बार बड़ी उठापटक का हिस्सा बन सकता है| इसे चुनाव बाद उलझन या असमंजस का समाना करना पड़ सकता है| मतगणना के भाग्यांक 9 व चुनावी वर्षांक 7 के साथ इसका मूलांक 2 विरोधी युति बना रहा है| यह चुनावी लड़ाई में मनोकामना पूर्ति में बाधक है| यह युति इसका मुख्यमंत्री बन पाने और अकेले सरकार बना पाने या सबसे बड़े दल के रूप में उभरने में बड़ी बाधक है|  
       अब बात करते हैं उन पक्षों की, जो कि शिव सेना के साथ हैं| शिव सेना के पक्ष में सबसे बड़ी बात यह है कि मतगणना के मूलांक का वृहदंक 19 पूरा का पूरा इसके मूलांक के साथ प्रतिरूप युति बना रहा है| इसका भाग्यांक विधानसभा अंक 3 के साथ मित्र युति बना रहा है| इसका भाग्यांक 2 व नामांक 2 इसके ख़ुद के मूलांक 1, मतगणना के मूलांक 1 व राज्य के मूलांक 1, अपने आयु-अंक 4 व राज्य के भाग्यांक 4 के साथ के साथ प्रबल मित्र युति बना रहा है|     
                     निर्णायक कारक
       आप यहाँ दी गयी सारिणी में स्पष्ट रूप से देख रहे हैं कि भाजपा को 35+, कांग्रेस को 62+, राकांपा को 79+ व शिव सेना को 43+ अंक मिल रहे हैं| यहाँ राकांपा पहले स्थान व कांग्रेस दूसरे स्थान पर है| ऐसे में यह प्रश्न उठना स्वाभाविक है कि फिर भाजपा को हम सबसे बड़े दल के रूप में कैसे रख रहे हैं? यहाँ हमें महाराष्ट्र के अंकीय समीकरण विशेष रूप से ध्यान में रखने होंगे| इसी आलेख में ऊपर कही गयी हमारी इस बात को ध्यान में रखिए---"इस बार महाराष्ट्र अपना ताज किसी नए व्यक्ति के सिर पर रखने रखने जा रहा है| इस बार नए दल के नेतृत्व में नयी सरकार बनने जा रही है|" महाराष्ट्र के अंकों में इस बार परिवर्तन के योग हैं| ये योग 'पूर्ण रूपेण' वाले हैं| इसका तात्पर्य यह है कि यह परिवर्तन गठबंधन, दल व व्यक्ति, तीनों रूपों में होगा| इसका अर्थ सीधा-सा यह है कि कांग्रेस व राकांपा का गठबंधन अब सत्ता में नहीं आएगा| इसका अर्थग यह भी हुआ कि इस गठबंधन के दोनों दल, कांग्रेस व राकांपा भी सत्ता में नहीं आएँगे| अब ऐसे में बात आ टिकती है भाजपा व शिव सेना पर| शिव सेना के अंक भाजपा से अधिक हैं, मगर उसके अंकीय विश्लेषण में 'पितृ पुरुष' यानि 'बड़े भाई' की अवस्था नहीं बन रही है| अब भाजपा ही शेष रहती है| ऐसे में उसके सबसे बड़े दल के रूप में उभरने व उसी की अगुआई में सरकार बनने के प्रबल आसार बन रहे हैं| अब भाजपा व शिव सेना का यह विश्लेषण यह बताता है कि सीटों के मामले में शिव सेना दूसरे स्थान पर आ सकती है| कांग्रेस व राकांपा को सत्ता से तो बेदखल होना पड़ेगा, मगर राकांपा को कांग्रेस से अधिक सीटें मिल सकती हैं|   

    नाम
    मूलांक
    भाग्यांक
    आयु-अंक
    नामांक
कुल
भाजपा
06-04-1980
          6
- - + - + 2- 2+ - -
         3-
             1
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+
             8(35)
2- 2- + 2- + + = 2- +
             4-
           2
2+ 2+ 2+ 2+ - 2+ = 2+ =
          11+

9+


7+



19+


35+
अमित शाह
22-10-1964
          4
= = = 2+ = = = = =
         2+    
            7
2+ 2+ - 2+ 2+ 2+ = 2+ =
            11+
             6 (51)
- - + - + 2- 2+ - -
         3-
          6
- - + - + 2- 2+ - -
         3-
देवेन्द्र फड़नवीस
22-07-1970
         4
= = = 2+ = = = = =
         2+   
           1
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+
             9 (45)
= = - = - 2+ - = 2+
             +
          7 
2+ 2+ - 2+ 2+ 2+ = 2+ =
            11+
कांग्रेस
02-01-1978
          2
2+ 2+ 2+ 2+ - 2+ = 2+ =
          11+
            1
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+
            1 (37)
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+
          3
= = + = + 2+ + = =
          5+

26+


10+



26+


62+
सोनिया गांधी
09-12-1946
         9
= = - = - 2+ - = 2+
             +
           5
+ + 2+ + 2+ 2- = + 2-
           4+
           5 (68)
+ + 2+ + 2+ 2- = + 2-
           4+
             9
= = - = - 2+ - = 2+
             +
माणिकराव ठाकरे
22-08-1954
         4
= = = 2+ = = = = =
         2+   
            4
= = = 2+ = = = = =
           2+   
            7
2+ 2+ - 2+ 2+ 2+ = 2+ =
            11+
          7
2+ 2+ - 2+ 2+ 2+ = 2+ =
            11+
राकांपा
25-05-1999
          7  
2+ 2+ - 2+ 2+ 2+ = 2+ =
            11+
            4
= = = 2+ = = = = =
            2+   
            7 (16)
2+ 2+ - 2+ 2+ 2+ = 2+ =
            11+
           1
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+

29+


शरद पवार
12-12-1940
          3
= = + = + 2+ + = =
          5+
           2
2+ 2+ 2+ 2+ - 2+ = 2+ =
          11+
            2
2+ 2+ 2+ 2+ - 2+ = 2+ =
          11+
           7
2+ 2+ - 2+ 2+ 2+ = 2+ =
            11+
38+



12+


79+
सुनील तत्कारे
10-07-1955
           1
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+
           1
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+
            6
- - + - + 2- 2+ - -
         3-
            1
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+
शिव सेना
19-06-1966
         1
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+
          2
2+ 2+ 2+ 2+ - 2+ = 2+ =
          11+
           4 (49)
= = = 2+ = = = = =
            2+   
          2
2+ 2+ 2+ 2+ - 2+ = 2+ =
          11+

29+


14+


43+
उद्धव ठाकरे
27-07-1960
          9       
= = - = - 2+ - = 2+
             +
          5
+ + 2+ + 2+ 2- = + 2-
           4+

           1
2+ 2+ = - = =  = 2+ =
            5+
         5
+ + 2+ + 2+ 2- = + 2-
           4+
                   किसे कितनी सीटें संभावित?
भाजपा:-109-114              शिवसेना:-67-74                राकांपा:-40-47                कांग्रेस:-29-37
                    मिलते हैं अगली पोस्ट के साथ कल, जिस में बात करेंगे कि महाराष्ट्र में कौन बन सकेगा मुख्यमंत्री? ......... आज के आनंद की जय| ............ जय श्री राम|