शनिवार, 3 नवंबर 2012

नितिन गडकरी : भाजपा के लिए सौभाग्यकारी

जय श्री राम ............| आदरणीय मित्रो, कल किसी विशेष काम में व्यस्त रहने के कारण आपसे बात नहीं कर सके| आज हाजिर हैं| इस दिनों देश के राजनीतिक वातावरण में एक बात बहुत-जोर-शोर से तैर रही है कि अपने पर लगे आरोपों के मद्देनज़र भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी को इस्तीफ़ा दे देना चाहिए| पचासों तरह की बातें की जा रही हैं| हम यह देखें कि अंक ज्योतिष क्या कहती है इस बारे में? वैसे तो हमने हालिया गुजरात विधानसभा चुनाव के सिलसिले में अपने भविष्यवाणी में इस बारे में चर्चा की है, किन्तु यहाँ विस्तार से अलग से बात कर लेते हैं| आखिरकार अंक ज्योतिष के विद्यार्थी होने के नाते हम अपने अध्ययन से किसी निष्कर्ष पर तो पहुँचें|
                                                                          नितिन गडकरी  
जन्म-दिनांक:-27-05-1957            मूलांक:-9             भाग्यांक:-9            आयु अंक:-2 (56 वाँ वर्ष)            नामांक:-3    जन्म का चलित अंक:-5 (+)
                 नितिन गडकरी के जन्म का भाग्यांक 9 है| इसका वृहदंक है-36| इस प्रकार यह अंक 3, अंक 6 व अंक 9 का त्रिकोण बना| यह अंक ज्योतिष के सर्वश्रेष्ठ समूह का त्रिकोण है| इसलिए गडकरी अंक 3 के प्रभाव के कारण जहाँ एक अच्छे योजनाकार हैं, वहीं अंक 6 के प्रभाव के कारण एक कुशल वित्तीय व्यवस्थापक-प्रबंधक भी हैं| इसी की कृपा के कारण महाराष्ट्र में लोक निर्माण मंत्री रहते हुए गडकरी ने मुंबई को फ्लाई ओवर देने में हज़ारों करोड़ का फायदा दे दिया, जबकि कोई और होता तो वे हज़ारों करोड़ अपने पेट में भर लेता| स्त्री अंकों के कारण इन पर अंक 9 का प्रभाव अभी इतना परिलक्षित नहीं हो रहा है|  मूलांक 9 स्त्री अंकों 2 व 7 से बना है| इसी कारण इनके तेवर खूंखार और आक्रमक न होकर नरम और मुलायम है| इनके आचरण में प्रकट शैलीगत कड़ाई नहीं है| इन पर अंक 3 की कृपा है तो सही, मगर वह योजनागत रूप में है, प्रकट के बृहस्पति के रूप में नहीं| इसी कारण ये बहुत अच्छे योजनाकार तो हैं, मगर भाषण या भाषा के मामले में इतने ख़ुशनसीब नहीं हैं| इसी कारण इनकी जुबान बार-बार फिसल ही जाती है|
                     अभी 56 वें वर्ष के कारण इनका आयु अंक 2 है| इनकी उम्र का यह वर्ष इनके स्त्री अंक 2 का वर्ष है| इस कारण इन्हें स्त्री/साथ के लोगों या दल के लोगों के कारण परेशानी, मान-हानि या कष्ट झेलने पड़ सकते हैं| इस का समय  इनके इस जन्म-दिन 27 मई से आरम्भ हो गया|  इस आयु वर्ष की पहली तिमाही षड्यंत्र-रचना बताती है; साथ ही दूसरी तिमाही षड्यंत्र-विस्फोट बताती है| इसके बाद की तिमाही यानि तीसरी तिमाही षड्यंत्र से मुक्ति की ओर ले जाती है और चौथी तिमाही संकटों से मुक्ति दिला देती है या इसकी व्यवस्था करवा देती है| अब यहाँ हमारी एक अति विशिष्ट बात पर गडकरी ही नहीं, अपितु समस्त भाजपा को ध्यान देने की आवश्यकता है| अंक ज्योतिषीय दृष्टिकोण से कही गयी हमारी यह बात भाजपा के अंदरूनी समीकरणों में बहुत विस्फोटक भी सिद्ध हो सकती है| गडकरी के यहाँ आयु अंक 2 व जन्म के मूलांक 9 के वृहदंक 27 का त्रिकोण विश्लेषित किया जाए तो यह बात अत्यंत तीव्रता से उभर कर सामने आती है कि गडकरी को अपने ही साथी लोगों (पार्टी के साथियों) और ऐसे लोगों, जिन्हें ये अपना/विश्वसनीय मानते हैं, के षड्यंत्र का शिकार होना पड़ रहा है| इसका तात्पर्य यह हुआ कि गडकरी अभी जिस कुचक्र में फँसे हैं, वह इनके विरोधियों का तो प्रकट में दिखता है, असल में यह कुचक्र इन्हीं के दल के साथी/साथियों की रचना संभव है| तात्पर्य यह भी है कि अभी के मामलों में गडकरी पर गोली चाहे विरोधी चला रहे हैं, किन्तु इसके लिए बारूद गडकरी के पार्टीगत साथ/साथियों ने ही उपलब्ध करवाया हो सकता है| अब अंक 2 की दोहरी भूमिका और अंक 7 व अंक 9 के इस त्रिकोण के साथ गडकरी के आयु अंक 2 के वृहदंक 56 के समीकरण जोड़ कर देखते हैं तो यह स्पष्ट होता है कि गडकरी के विरुद्ध षड्यंत्र में वे/वह व्यक्ति शामिल/कर्ताधर्ता है जिसका अंक 5 अंक 8 से पीड़ित है तथा जिन/जिस के स्त्री अंक खराब हैं| यहाँ बॉडी लैंग्वेज की एक अत्यंत रोचक बात देखिए| पहले गडकरी का पेट बहुत पसरा हुआ था| इसलिए इनका अंक 5 इनके बहुत साथ था तथा ख़राब अंक 5 वाले/वाला कोई व्यक्ति इन्हें हानि नहीं पहुँचा पाया, किन्तु जबसे इन्होंने अपने पेट के मोटापे के लिहाज से पाना ऑपरेशन करवाया, तब से इनका अंक 5 ख़राब हो गया और तभी से इनके विरुद्ध षड्यंत्र प्रभावी होने शुरू हो गये| अभी आयु अंक 2 व चलित अंक 5 (वर्ष 2012) दोनों ही गडकरी के विरुद्ध हैं, इसी कारण ये आरोपों के इस जंजाल में घिर गये हैं, मगर ये इन सबसे भी पार पा लेंगे| हमारी 'कृपा-त्रयी' (प.पू.गुरुदेव देवरहा बाबा, माँ बगलामुखी और घोटेवाले) की कृपा से गडकरी अभी भाजपा के अध्यक्ष बने रहेंगे और अपना दूसरा कार्यकाल भी लेंगे|
                    गडकरी इस आयु वर्ष की पहली अर्द्धली के बाद यानि 27 नवम्बर , 2012 के बाद इनके तेवरों में आश्चर्यजनक परिवर्तन आएँगे| तब इनके निर्णयों में भी एक अपूर्व कड़ाई देखने को मिल सकती है| चूँकि यह चलित वर्ष स्त्री अंकों का विरोधी है, इस कारण इनके तेवरों में यह बदलाव कुछ धीमे-धीमे हो सकता है; मगर इन स्त्री अंकों का मूलांक 9 होने तथा जन्म का मासांक 5 होने के कारण ये अपनी पार्टी के लोगों पर भी नकेल कसने में कामयाब होंगे|  27-05-2013 से गडकरी को उम्र का 57 वाँ वर्ष आरम्भ हो रहा है| यह इनके लिए बहुत शुभ रहने वाला है| इनके जीवन का 57 वाँ, 58 वाँ और 59 वाँ वर्ष इनके प्रभुत्व में अतिशय वृद्धि करेंगे| इन वर्षों के गडकरी बहुत बदले हुए होंगे| इन्हीं के अंकों की कृपा से भाजपा ने इनके अध्यक्ष बनने के बाद अद्भुत विजय पायी है| इनके अध्यक्ष रहते यह सिलसिला जारी रहेगा| भाजपा को तो ये दो प्रार्थनाएँ करनी चाहिए--पहली तो यह कि अगले लोकसभा चुनाव 26 मई, 2013 के बाद हों, और दूसरी यह कि नितिन गडकरी इसके अध्यक्ष बने रहें| कारण भी दो हैं| एक तो यह कि गडकरी के अलावा भाजपा में इतनी बढ़िया अंक किसी के भी नहीं हैं कि जो भाजपा को चुनावी लड़ाई अच्छी विजय दिलवा सकें, दूसरा यह कि 27 मई, 2013 से गडकरी के लगातार तीन श्रेष्ठ वर्षों की अवधि आरम्भ हो रही है| अतः 26 मई, 2013 के बाद लोकसभा चुनाव ही नहीं, बल्कि अन्य चुनावों में भी भाजपा को गडकरी के अंकों का बहुत अच्छा फ़ायदा मिल सकता है| कुल मिलाकर गडकरी भाजपा के लिए बहुत सौभाग्यकारी हैं| अपने-अपने स्वार्थों के वशीभूत हो कर प्रकट या प्रच्छन रूप में गडकरी का इस्तीफ़ा माँगने या चाहने वाले इनकी पार्टी के लोग जाने-अनजाने में अपने ही पाँवों पर कुल्हाड़ी मार रहे हैं|
                     मिलते हैं अगली पोस्ट के साथ| इस पोस्ट में हम चर्चा करेंगे नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्रीय योग के बारे में| ........... जय श्री राम|