सोमवार, 23 जुलाई 2012

हमारी हालिया सही साबित तीन भविष्यवाणियाँ

              जय श्री राम ............| आदरणीय मित्रो, हालाँकि अभी हमें आपसे कई दिनों की 'आज की हस्ती' की बात करनी है, मगर आज पहले आपसे हालिया सही साबित हुई अपनी तीन भविष्यवाणियों की बात करते हैं|
                हमारी 'कृपात्रयी' (प.पू. गुरुदेव देवरहा बाबा, माँ बगलामुखी और घोटेवाले) की कृपा से हमारी ये भविष्यवाणियाँ सही साबित हुई हैं|
                इस क्रम में सबसे पहले बात करते हैं महाराष्ट्र के ठाकरे बंधुओं और शिव सेना की| पिछले दिनों शिवसेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे की एंजियोप्लास्टी हुई| इस दौरान महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष और उद्धव के ताऊजी के बेटे राज ठाकरे उनके साथ थे| बीमारी के इस हालिया प्रकरण में राज उद्धव के साथ डट कर खड़े दिखायी दिए| राज के अलग होने के बाद से ऐसा यह पहला और सुखद आश्चर्यजनक अवसर है| हमारे लिए यह कोई आश्चर्य नहीं है| E TV के हिंदी चैनलों पर अपने साप्ताहिक कार्यक्रम 'अंक प्रभा' के दिनांक 17 जून, 2012 के एपिसोड में और अपने ब्लॉगों पर दिनांक 20 जून, 2012 की पोस्ट में शिव सेना के सन्दर्भ में हमने साफ़-साफ़ कहा था---"राज ठाकरे के साथ मेल-मिलाप बढ़ सकता है|"
              दूसरी बात करते हैं राजस्थान के वरिष्ठ भाजपा नेता देवी सिंह भाटी की| कुछ दिनों पहले देवी सिंह भाटी ने किसी प्रकरण में मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री बनने की इच्छा जाहिर की थी| इस पर पार्टी आलाकमान ने उनसे अपनी गहरी नाराज़गी जाहिर की| पार्टी के प्रदेश प्रभारी कप्तान सिंह सोलंकी ने इस सम्बन्ध में देवी सिंह भाटी को चेतावनी भी दी| हमने इसकी भविष्यवाणी पहले कर दी थी|  E TV के हिंदी चैनलों पर अपने साप्ताहिक कार्यक्रम 'अंक प्रभा' के दिनांक 27 मई, 2012 के एपिसोड में 'सप्ताह के सिकन्दर' में और अपने ब्लॉगों पर दिनांक 31 मई, 2012 की पोस्ट 'आज की हस्ती' के अंतर्गत देवी सिंह भाटी के सन्दर्भ में हमने साफ़-साफ़ कहा था---"पार्टी आलाकमान (विशेषकर प्रदेश आलाकमान) के साथ उलझ सकते है|"
              देवी सिंह भाटी के ही बारे में हमारी भविष्यवाणी एक और रूप में सही साबित हुई है| भाटी ने राज्य सरकार के साथ एक ख़ास क़िस्म का टकराव ले लिया है। बीकानेर में भाटी गोचर भूमि को बचाने के लिए राज्य सरकार के विरुद्ध कई दिनों से धरने पर हैं| इनका यह धरना तनिक लीक से हट कर है क्योंकि राजनेता प्रायः इस तरह के आंदोलनों में नहीं हुआ करते, मगर देवी सिंह भाटी ने ऐसा किया है और बहुत तगड़े रूप में किया है| इन्होने राज्य सरकार को बहुत जोर करवा दिया| राज्य सरकार से भाटी के इस खास टकराव को लेकर भी हमने भविष्यवाणी कर दी थी| अपने उक्त टीवी शो और ब्लॉग पोस्ट में हमने साफ़-साफ़ कहा था---"सरकार के साथ ख़ास क़िस्म का टकराव हो सकता है|"
                हिन्दी फ़िल्मों के पहले सुपर स्टार राजेश खन्ना का पिछले दिनों देहांत हो गया| किसी की मृत्यु को लेकर साफ़-साफ़ शब्दावली सार्वजनिक मंच से नहीं प्रयुक्त की जा सकती, इसलिए हमने इस बारे में संकेत में कहा था| अपने ब्लॉगों पर दिनांक 12 जून, 2012 की पोस्ट में डिम्पल कपाड़िया के जन्म-दिन के सन्दर्भ में 'आज की हस्ती' में हमने इस बारे में सांकेतिक भाषा में कहा था---" 31-12-2012 तक का समय विपरीत है| पति/परिवार से सम्बंधित विशेष चिंता संभव है|" आप खुद ही देख लीजिए कि आज क्या परिस्थिति है? प्रभु राजेश खन्ना की आत्मा को शान्ति प्रदान करें|  
                 मिलते हैं अगली पोस्ट के साथ| ............ जय श्री राम|