शुक्रवार, 31 दिसंबर 2010

जालंधर ज्योतिष सम्मेलन-दिसंबर,2010

जय श्री राम............| आदरणीय मित्रो,जालंधर से आये कई दिन हो गये| वहाँ की बात करनी है आप से| वर्क शॉप चौक स्थित जल विलास पैलेस में अखिल भारतीय सरस्वती ज्योतिष मंच (जालंधर)एवं फ्यूचर पॉइंट (दिल्ली) की तरफ़ से प्रथम स्टार लाईट ज्योतिषीय प्रदर्शनी एवं 44 वाँ अखिल भारतीय ज्योतिष सम्मेलन आयोजित किया गया| दूसरे दिन 18 तारीख़ को हमने नववर्ष 2011 के सन्दर्भ में विशेष व्याख्यान दिया| इस व्याख्यान का सार रूप यहाँ प्रस्तुत है---

             "वर्ष 2011 पितृ अंकों का वर्ष है| इस का मुखिया स्त्री अंक (2) है| तत्पश्चात महाशून्य है| इन के बाद दो पुरुष अंक (1-1) हैं| जिन लोगों के यहाँ पितृ प्रभाव है,उन के लिए यह वर्ष शुभ रहने वाला है| जिन के यहाँ पितृ दोष की स्थिति है,उन के लिए यह वर्ष झटकेदार रहेगा| शुभ अंकों के साथ जन्म के मूलांक व भाग्यांक में अंक 4 की उपस्थिति 'पितृ प्रभाव' है तथा अशुभ अंकों की उपस्थिति में जन्म के मूलांक व भाग्यांक में अंक 4 की उपस्थिति 'पितृ दोष' है| अंक 4 वालों के पिता या बड़े भाई जीवित हैं और साथ ही रहते हैं,तो 'पितृ प्रभाव' की स्थिति में उन्हें इस वर्ष भाग्य का बहुत अच्छा साथ मिल सकता है,किन्तु 'पितृ दोष' की अवस्था में उन्हें तगड़े झटके भी लग सकते हैं| अंक 1 वालों को प्रमोशन मिल सकता है| बॉस की भी उन पर कृपा रह सकती है| अंक 2 व अंक 7 वालों को महिला सहकर्मी,घर की स्त्री,नाक-कान-गले से सम्बन्धित चिंता हो सकती है| ग्रहण योग के कारण मानसिक संताप की अवस्था रह सकती है| इन्हें डिप्रेशन से बचना चाहिए| अंक 3 वालों को इस वर्ष अच्छे अवसर मिल सकते हैं| ऐसे लोग यदि मीडिया में हैं तो शुभ अवसरों की संख्या की अधिकता रह सकती है| अंक 5 वालों को कार्य सम्बन्धी यात्राओं की अधिकता रह सकती है| अंक 6 वालों को पुराना अटका धन मिल सकता है,साथ ही अपने से बड़ी उम्र/पद के व्यक्ति के कारण/उस के साथ काम से भाग्य की कृपा मिल सकती है| अंक 8 वालों को इस वर्ष संभल कर रहना चाहिए| उन्हें क़ानून सम्बन्धी पेचीदगियों से दो-चार होना पड़ सकता है| इन्हें चोट सम्बन्धी सावधानी बरतनी चाहिए| अंक 9 वालों को विरासत से अथवा पुरातत्त्व से विशेष लाभ के योग हैं| इन्हें मुक़द्दमेबाज़ी से निजात मिल सकती है|पितृ प्रभाव/पितृ दोष वालों को अपनी जेब में अपने पितरों की श्वेत/श्याम फोटो रखनी चाहिए| इन्हें डूबते सूर्य के दर्शन करने चाहिए| साथ ही घर की बैठक/ऑफिस में अपने पितरों की श्वेत/श्याम तस्वीर पश्चिममुखी कर के थोड़ी नीचे की ओर तिरछी लटका कर टांगनी चाहिए| ऐसे लोगों को फ्रेंच-कट दाढ़ी रखनी चाहिए| यह दाढ़ी ठुड्डी से नीचे नहीं जानी चाहिए तथा अधिकाधिक शार्प होनी चाहिए| पितृ दोष संतुलित करने के लिए अपने पिता (यदि जीवित हैं) का रंगीन चित्र जेब में रखें| स्त्री प्रधान/स्त्री-नियंत्रित केंद्र सरकार को तगड़े झटके लगेंगे| चूँकि सोनिया गांधी पुरुष दोष से पीड़ित हैं,इसलिए वर्ष 2011 में उन की मुखियागिरी वाली पार्टी व सरकार,दोनों को ही अपयश झेलना पड़ेगा|"   
                        हमने  तीसरे दिन दोपहर के सत्र में 'जन्मांक-त्रिकोण' विषय पर व्याख्यान दिया| यह बात आप के साथ हम विगत सितम्बर में लुधियाना सम्मेलन की सन्दर्भगत पोस्ट में कर चुके हैं (इसलिए इस की तफ़सील यहाँ नहीं दे रहे हैं)| इस व्याख्यान के दौरान सत्र के संचालक वरिष्ठ ज्योतिषी एवं धर्म-धुरंधर पं.अक्षय कुमार शर्मा के प्रश्न के उत्तर में हमने कहा कि पंजाब में भारतीय जनता पार्टी सिर्फ़ अपने दम पर सरकार नहीं बना पाएगी| हमने कुछ उदाहरण देते हुए कहा कि पंजाब में अगले विधानसभा चुनाव में अजूबा होने वाला है| तब अकाली दल एक बार फिर से विजय प्राप्त कर सरकार बनाएगा| सरदार प्रकाश सिंह बादल पुनः मुख्यमंत्री बनेंगे,मगर इस बार अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएँगे| पितृ अंकों के प्रभाव वाले सुखबीर सिंह बादल को वे पका-पकाया पद दे कर जाएँगे| अंकों का खेल ऐसा है कि प्रकाश सिंह बादल अकेले सरकार नहीं बना पाएँगे,उन्हें भाजपा का सहयोग लेना ही पड़ेगा|"
               सम्मेलन के तीसरे दिन समापन-सत्र में हमने सत्र के मुख्य अतिथि 'पंजाब केसरी' के सम्पादक पद्मश्री विजय चोपड़ा व मंचासीन अन्य अतिथियों को 'अंक प्रभा' का दिसंबर का अंक भेंट किया| श्री विजय चोपड़ा ने 'अंक प्रभा' को आशीर्वाद प्रदान किया तथा शाल ओढ़ा कर एवं स्मृति-चिह्न प्रदान कर हमारा सम्मान किया|  
     
                 मित्रो,यह थी जालंधर सम्मेलन की बात| आप को अंग्रेज़ी नव-वर्ष की अग्रिम शुभकामनाएँ| शेष विशेष फिर| अब आज्ञा दीजिए| .........आज के आनंद की जय| ............ जय श्री राम|