गुरुवार, 2 फ़रवरी 2017

विधान सभा चुनाव-2017 :: पंजाब : किसे कितनी सीटें : इस बार कांग्रेस की बल्ले-बल्ले

                       जय श्री राम .........| आदरणीय मित्रो, हमारी ‘कृपात्रयी’ (प.पू. गुरुदेव देवरहा बाबा, माँ बगलामुखी और घोटेवाले) की कृपा से हालिया विधान सभा चुनावों सम्बन्धी सीटों की संख्या सम्बन्धी भविष्यवाणी के क्रम में प्रस्तुत है पंजाब की बात| यहाँ इस बार चुनाव त्रिकोणीय है| सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी गठबन्धन व कांग्रेस के बीच कूद कर ‘आम आदमी पार्टी’ ने इस बार के दंगल को बहुत दिलचस्प बना दिया है| पंजाब के बारे में पिछले विधान सभा चुनाव में हमारी भविष्यवाणी चमत्कारिक रूप से सही ठहरी थी| तब अंक ज्योतिष एवं बॉडी लैंग्वेज पर आधारित अपने मासिक अख़बार ‘अंक प्रभा’ के 01 जनवरी, 2012 के अंक में हमने कहा था कि ‘पंजाब : अकाली-भाजपा फिर एक बार’, यद्यपि ऐसा कहने पर हमें न सिर्फ़ ज्योतिषियों, बल्कि राजनेताओं की हँसी का पात्र भी बनना पड़ा था, मगर हमारी भविष्यवाणी सही ठहरने ने सभी का मुँह बन्द कर दिया था|    
           इस गणना में राष्ट्रीय पार्टियों के प्रदेशाध्यक्षों को सम्मिलित किया गया है; साथ ही प्रमुख दलों को लिया गया है| शेष पार्टियों व निर्दलियों को ‘अन्य’ में सम्मिलित किया गया है|  हमने भारतीय जनता पार्टी को ‘भाजपा’, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को ‘भाराकां’ व आम आदमी पार्टी को ‘आआपा’ लिखा है|
गणनीय अंक
पंजाब:-मूलांक:-1   भाग्यांक:-7   आयु-अंक:-6 (51 वाँ)     नामांक:-5     दिन-अंक:-9
मतगणना:-मूलांक:-2      भाग्यांक:-6     दिन-अंक:-8      वर्षांक:-1      चलित:-3
विधान सभा-अंक:-6 (15 वीं)

पार्टी/व्यक्ति
मूलांक
भाग्यांक
नामांक
आयु-अंक
दिन-अंक
एकल योग
महायोग
शिअद

5
5+
2
7+
9
+
8
+
9
+

15+/5
=3+
7.13+/2
=3,56+
सुखबीर सिंह
9
+
7
7+
4
0

1
4+
2
7+
7
7+
26+/6
=4.33+
 भाजपा

6
3+
1
4+
2
7+
1
4+
1
4+
4
0
22+/6
=3.66+

13.82+/3
=4.6+
अमित शाह

4
0
7
7+
6
3+
8
+
3
9+

20+/5
=4+

विजय सांपला
6
3+
3
9+
3
9+
2
7+
3
9+

37+/6
=6.16+
भाराकां 

2
7+
1
4+
3
9+
4
0
2
7+
7
7+
34+/6
=5.66+
14.12+/3
=4.7+
सोनिया गांधी   
9
+
5
5+
9
+
8
0
2
8+
7
7+
22+/6
=3.66=
अमरिन्दर सिंह
2
7+
3
9+
6
3+
4
0
5
5+

24+/5
=4.8+
आआपा

8
+
6
3+
8
+
5
5+
2
7+
7
7+
24+/6
=4+
7.8+/2
=3.9+
अरविन्द केजरीवाल
7
7+
3
9+
4
0
4
0
6
3+

19+/5
=3.8+

   कुल निर्वाचनीय सीटें=117       
   कुल=शिअद+भाजपा+भाराकां+आआपा=3.56+4.6+4.7+3.9=16.76
      शिअद=3.56*100/16.76=21.24*94=19.96=20 सीटें     भाजपा=4.6*100/16.76=27.44*23=06.31=06 सीटें
   भाराकां=4.7*100/16.76=28.04*117=32.81=32 सीटें   आआपा=3.9*100/16.76=23.33*117=27.30=27 सीटें
      अब तक की कुल सीटें=20+06+32+27=85      शेष सीटें=32
     भाराकां+आआपा=4.7+3.9=8.6
     भाराकां=4.7*100/8.6=54.65*32=17.48=17          आआपा=3.9*100/8.6=43.34*32=14.51=15
   भाराकां=32+17=49 सीटें        आआपा=27+15=42 सीटें      
          इसलिए अन्तिम रूप से-
   शिअद=20 सीटें (कम-अधिक 2 सीटें)         भाजपा=06 सीटें (कम-अधिक 1 सीट) 
   भाराकां=49 सीटें (कम-अधिक 5 सीटें)                आआपा=42 सीटें (कम-अधिक 4 सीटें)  
   अन्य= 6 सीटें (कुल निर्वाचनीय सीटों की 5%)
         इस प्रकार यह साफ़ है कि इस बार पंजाब की सत्ता का चेहरा बदलने जा रहा है| दस बरसों से लगातार सत्ता में रहने वाला ‘अकाली-भाजपा गठबन्धन’ सत्ता से बाहर होगा और कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सत्ता पर काबिज होने के सबसे नजदीक रहेगी| अब यह देखना है कि कांग्रेस कम पड़ने वाली सीटों की कमी किस तरह करेगी? बहुत सम्भव है कि सरकार बनाने के लिए गोवा की तरह यहाँ भी कांग्रेस और आआपा साथ आ जाएँ| पंजाब के इस चुनाव के सम्बन्ध में हम विश्लेषणपरक चर्चा इस शृंखला के दूसरे चरण की पोस्ट में करेंगे| ....... जय श्री राम|