मंगलवार, 7 अगस्त 2012

केशुभाई की 'गुजरात परिवर्तन पार्टी' का भविष्य

              जय श्री राम ............| आदरणीय मित्रो, आज आपसे हो रही यह पहली बात है| अभी भी आपसे कई बातें करनी बाक़ी हैं, मगर पहले यह बात| भाजपा के पूर्व वरिष्ठ नेता और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल ने नयी राजनीतिक पार्टी बनायी है| कल यानि सोमवार, दिनांक 06-08-2012 को 'गुजरात परिवर्तन पार्टी' के नाम से केशुभाई ने अन्य पूर्व मुख्यमंत्री सुरेश भाई मेहता के साथ मिल कर यह पार्टी बनायी है| सबकी नज़रें इस ओर लग गयी हैं कि यह पार्टी अपने घोषित उद्देश्य यानि नरेन्द्र मोदी को सत्ता में आने से रोकने में कितनी कामयाब हो पाएगी? हर कोई यह जानने को उत्सुक है कि इस पार्टी का भविष्य क्या है? तो आइए, हम करते हैं इस पार्टी और ख़ुद केशुभाई का अंक ज्योतिषीय विश्लेषण|
              पहले बात करते हैं 'गुजरात परिवर्तन पार्टी' के नामांक की| इसका नामांक बनता है-2| इसका वृहदंक बनता है-65| अंक 2, 5 व 6 का त्रिकोण भावनात्मक सुख पर आघात करता है| अंक 2 दल/पार्टी/परिवार का होता है| इसका मतलब यह हुआ कि यह पार्टी जिस भावना को लेकर गठित की गयी है, उसका सुख बाधित रहेगा| इस पार्टी के नाम का मूलांक समीकरण 9-4-7 बनता है| अंक 9 व अंक 4 चुनावी लड़ाई में आगे रखा करते हैं, मगर यहाँ अंक 7 के साथ के कारण अंक 9 व अंक 4 की युति चुनावी लड़ाई में 'दिल तोड़ने वाली' बन गयी है| अतः गुजरात परिवर्तन पार्टी के लोगों का चुनावी लड़ाइयों में दिल टूटेगा; अभी ही नहीं, बल्कि आगे भी| यह मूलांक समीकरण चुनावी वर्षांक (5) के साथ विरोधी युति बनाता है| अतः अभी के विधानसभा चुनाव तो इस पार्टी के लिए विशेषकर हानिकारक रहेंगे| इस पार्टी को लेकर जो भी हौव्वा बन रहा है/बनाया जा रहा है, वह बुरी तरह समाप्त हो जाएगा|
                 अब बात करते हैं इस पार्टी की स्थापना के अंकों की| इसकी स्थापना हुई है 06-08-2012 को| इसका मूलांक 6, भाग्यांक 1, मासांक 8, वर्षांक 5 व चलित अंक 1-4 है| यहाँ भाग्यांक 1 व एक चलित अंक 1 मासांक 8 के साथ प्रबल विरोधी पितृद्रोह युति (GODFATHER PROBLEM) बनाता है| अन्य अंकों के साथ यह तटस्थ-सा है| दूसरा चलित अंक 4 इस मासांक 8 के साथ विखंडन युति बनाता है| इस पार्टी की स्थापना का दिन सोमवार है| इसके अंक हैं-2 व 7| अंक 8 के साथ ये अंक इच्छापूर्ति में बाधा उत्पन्न करते हैं| इस पार्टी को स्थापना से ही अंक 5 की दशा है, जो कि इसके भाग्यांक और स्थापना के दिन-अंकों की विरोधी है| यह दशा वर्ष 2017 में समाप्त होगी| मूलांक-भाग्यांक समन्वय से इस पार्टी का निम्नांक 1 व उच्चांक 6 है| अतः यह मानना चाहिए कि यह पार्टी 1 से 6 साल की अवधि में समाप्त हो जाएगी| इसकी आयु इतनी ही है| इसलिए इस पार्टी को लेकर अधिक उम्मीदें लगाना व्यर्थ हैं|
                  अब बात कर लेते हैं इस पार्टी के संस्थापक केशुभाई पटेल की| इनका नामांक बनाता है-6| इसका वृहदंक है-51| अंक 1, 5 व 6 का यह त्रिकोण अनुकूलता बनाता है| इसका मूलांक समीकरण 3-3 है| यह चुनावी वर्षांक 5 के साथ मित्र युति बनाता है| मगर समस्या यह है कि अंक 3 इनकी पार्टी की स्थापना के दिन-अंक व चलित अंकों के साथ विरोधी युति बनाता है| 24-07-1930 को जन्मे केशुभाई का मूलांक 6 भाग्यांक 8, मासांक 7, वर्षांक 4 व चलित अंक 1-4 है| अंक 6 व अंक 8 परस्पर मित्र हैं| भाग्यांक 8 जन्म के वर्षांक 4 व एक चलित अंक 4 के साथ विखंडन युति और मासांक 7 के साथ इच्छापूर्ति में बाधाकारी युति बनाता है| यही भाग्यांक 8 एक चलित अंक 1 व इनके नामांक के वृहदंक 51 के अंक 1 के साथ पितृद्रोह युति बनाता है| यह अंक 8 केशुभाई के मूलांक समीकरण 3-3 के साथ निर्णयगत विषमता उत्पन्न करता है| उम्र का 83 वाँ वर्ष चलने के कारण इनका आयु अंक 2 हुआ| अंक 3 व अंक 8 की बात अभी हम कर ही चुके हैं कि इनकी युति निर्णयगत विषमता यानि ग़लत निर्णय लेना बताती है| आयु अंक 2 के साथ इसके वृहदंक 83 की युति निकट/साथ के लोगों/पार्टी सम्बन्धी ग़लत फैसला बताती है| अतः केशुभाई का नयी पार्टी बनाने का यह निर्णय पूर्णतः ग़लत सिद्ध होगा|  चुनावी वर्षांक 5 इनके भाग्यांक 8 तथा आयु अंक 2 का प्रबल विरोधी है| इनके भाग्यांक 8 की आयु अंक 2 के साथ युति दिल तोड़ती है तथा इच्छापूर्ति में बढ़ा पैदा करती है| चुनावी वर्षं 5 भाग्यांक 8 के साथ भ्रमकारी युति बनाता है| इसका अर्थ यह होता है कि इन्हें लेकर भ्रम/वहम  की स्थिति रह सकती है| इससे अधिक और कुछ नहीं होना| इनका भाग्यांक 8 इनके पार्टी के नामांक 2 के साथ इच्छापूर्ति में बाधा उत्पन्न करता है| यह अंक 8 इनकी पार्टी के भाग्यांक 1 व वृहदंक 19 के अंक 1 के साथ पितृद्रोह युति तथा वुहदंक 19 के दूसरे अंक 9 के साथ प्रबल विरोधी युति बनाता है| यही अंक 8 केशुभाई की पार्टी के मूलांक समीकरण 9-4-7 के अंक 9 के साथ प्रबल विरोधी युति, अंक 4 के साथ विखंडन युति और अंक 7 के साथ दिल तोड़ने वाली युति बनाता है| इन सब नकारात्मक समीकरणों की आग में घी का काम करेगा नरेन्द्र मोदी का 'शत्रुहन्ता योग'| हम वर्ष 2007 के पिछले विधानसभा चुनावों से यह बात बराबर कहते आ रहे हैं कि नरेन्द्र मोदी के प्रबल 'शत्रुहन्ता योग' है| जो भी व्यक्ति इनसे उलझेगा, वह स्वयं ही मिट जाएगा| यदि कोई मोदी से परोक्ष रूप से टकराएगा तो उसे कुछ कम नुकसान होगा, मगर प्रत्यक्ष टकराना तो सिवाय मूर्खता के और कुछ भी नहीं है| केशुभाई यह परिणाम पिछले चुनावों में देख चुके हैं| अतः नरेन्द्र मोदी के 'शत्रुहन्ता योग' के कारण केशुभाई पटेल उनका कुछ नुकसान नहीं कर पाएँगे| एक बात और ख़ास| केशुभाई को अभी अंक 4 की दशा चल रही है| यह वर्ष 2015 तक चलेगी| अंक 4 इनके भाग्यांक 8 के साथ विखंडन युति बनाता है| यह युति इनके जीवन का विखंडन करवा देगी| केशुभाई के मूलांक-भाग्यांक की सीधा समन्वय यानि 68 वाँ वर्ष तो बीत चुका है| अब इसका व्यतिक्रम रूप यानि 86 वाँ वर्ष शेष है| अतः यह कहा जा सकता है कि उम्र का 86 वें वर्ष की समाप्ति तक केशुभाई के जीवन का अंतिम निर्णय हो जाएगा| इनका जीवन उम्र के 86 वें वर्ष यानि वर्ष 2015-2016 की समाप्ति से पहले-पहले पूर्ण विराम ले लेगा|
                  मित्रो, आज बात बहुत लम्बी हो गयी है| आज इतना ही| अब मिलेंगे कल| ......... आज के आनंद की जय| ............ जय श्री राम|