शुक्रवार, 11 मई 2012

राजस्थान भाजपा में उठापटक : वसुंधरा राजे के बारे में हमारी भविष्यवाणी सही साबित

                    जय श्री राम ............| आदरणीय मित्रो, आपमें से ही हमारे कुछ मित्रों का यह प्रेमपूर्ण उलाहन है कि इन ब्लॉगों पर हम सिर्फ़ 'आज की हस्ती' अपडेट करते हैं, अन्य पोस्टिंग की तरफ़ हमारा ध्यान नहीं रहता| न तो हम अंक ज्योतिष सिखाने वाली बात कर रहे हैं और न ही अपनी उन भविष्यवाणियों का स्मरण-उल्लेख करते हैं, जो कि सही ठहरती हैं| हमारे इन मित्रों के अनुसार इस स्मरण-उल्लेख से यह होता है कि लोगों को यह भी पता चले कि हमारी भविष्यवानियाँ बराबर सत्य होती रहती हैं| हम भविष्यवाणी के रूप में कोई पत्थर उछल कर किनारे नहीं हो जाते हैं| हमारे इन मित्रों से हम यही कहना चाहेंगे कि आप कि ये सारी बातें बिलकुल सच हैं| नमन हमारे प्रति आपकी इस सद्भावना को, मगर हमारे साथ दिक्क़त यह है कि काम ज़्यादा और व्यवस्थाएँ कम हैं| इस कारण हम 'सब कुछ का सब कुछ तरह से' ध्यान नहीं रख पाते हैं| फिर भी आपकी ये प्रेमपूर्ण शिकायत दूर करने का भरसक प्रयास करेंगे| इसी क्रम में आज की यह पोस्ट है|
                    विगत पाँच मई (शनिवार) से राजस्थान भाजपा में एक विशिष्ट उठापटक शुरू हुई, जो कि अब लगभग ठंडी हो चली है| इस उठापटक का रूप यह था कि गुलाब चन्द कटारिया की जन-जागरण-यात्रा के विरोध में वसुंधरा राजे सिंधिया की अगुआई प्रदेश भाजपा में इस्तीफ़ों का तगड़ा दौर शुरू हो गया| वसुंधरा राजे के विरोधियों की तमाम कोशिशों के बाद भी आलाकमान वसुंधरा राजे और उनके पक्ष में इस्तीफ़ा देने वालों के खिलाफ़ कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है|
                  मित्रो, हमने इस बारे में पहले ही साफ़-साफ़ कह दिया था| 'E TV' के चारों हिन्दी चैनलों से प्रसारित होने वाले अपने साप्ताहिक कार्यक्रम 'अंक प्रभा' के 04 मार्च, 2012 के एपिसोड में 'सप्ताह के सिकंदर' और अपने ब्लॉगों में 'आज की हस्ती' स्तम्भ के अंतर्गत वसुंधरा राजे सिंधिया के जन्म-दिन (8 मार्च) के प्रसंग में हमने कहा था---"अंदरूनी/साथ का विरोध बढ़ सकता है, मगर कुछ ख़ास नहीं बिगड़ेगा| विरोधी कमज़ोर होंगे|" आलाकमान के वसुंधरा राजे के खिलाफ़ कोई भी कार्यवाही न कर पाने से वे मज़बूत हुई हैं और उनके विरोधी कमज़ोर हुए हैं| हमारा तो यहाँ तक कहना है कि वसुंधरा राजे के इसी आयु-वर्ष (60 वें वर्ष) में यानि 07 मार्च, 2013 तक भाजपा आलाकमान इन्हें राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार भी घोषित कर देगा| साथ ही उक्त एपिसोड में हमने एक और बात कही थी---"प्रदेशाध्यक्ष का दायित्व मिल सकता है| इस पद पर अपना आदमी बिठला सकती हैं|" यह बात भी वसुंधरा राजे के अगले जन्म-दिन (08 मार्च, 2013) तक सही साबित हो जाएगी| अंततोगत्वा वसुंधरा राजे राजस्थान भाजपा की एकछत्र नेता के रूप में उभरेंगी| इनकी विरोधी इनका कुछ भी नहीं बिगाड़ पाएँगे, उलटे अपना ख़ुद का ही नुकसान कर लेंगे| 
                     मित्रो, अभी तो इतना ही| अगर समय मिला तो आज फिर मिलेंगे| इसलिए अभी 'आज के आनंद की जय' नहीं कहेंगे| हाँ, अगर आज फिर नहीं मिल पाये तो फिर आप अपने-आप ही 'आज के आनंद की जय' समझ लीजिएगा| ........... जय श्री राम|